Kanya Sumangala Yojana, ऑनलाइन आवेदन, न्यू लिस्ट

Author:


मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना ऑनलाइन आवेदन | UP Kanya Sumangala Yojana Apply Online | उत्तर प्रदेश कन्या सुमंगला स्कीम फॉर्म | mksy.up.gov.in Registration 2022

हमारे प्रिय मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी ने बेटियों के जीवन को बेहतर बनाने के लिए एक नई योजना को शुरू किया है जिसका नाम मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना 2022 है इस योजना के तहत उत्तर प्रदेश की बेटियों को 15000 रुपये की धनराशि आर्थिक मदद के रूप में दी जाएगी। जिससे राज्य की बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ की अवधारणा को आगे चलाया जा सके। तो आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के तहत Mukhyamantri Kanya Sumangala Scheme 2022 से जुड़ी सभी जानकारी देने जा रहे हैं जैसे की इस योजना के लाभ क्या है, इसका उद्देश्य क्या है, तथा इस योजना की आवेदन के लिए पात्रता क्या है। आपसे अनुरोध है कि आप हमारे इस आर्टिकल को ध्यान से अंत तक पढ़े। [यह भी पढ़ें- UP Bhulekh 2021: यूपी भूलेख ऑनलाइन खसरा खतौनी नकल@upbhulekh.gov.in]

Table of Contents

Mukhyamantri Kanya Sumangala Yojana 2022

इस योजना के तहत हमारे प्रदेश की बेटियों को 15000 रुपए प्रदान किये जाएंगे यह राशि 6 किस्तों में दी जाएगी I उस परिवार की पूरे साल की आय 3 लाख रूपये या उससे कम होनी जरूरी है। राज्य सरकार ने इस योजना का बजट 1200 करोड़ रुपए निर्धारित किया है। इस योजना की शुरुआत होने से बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ की अवधारणा पूरी होती दिख रही है, परिवार को मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना का लाभ लेने के लिए उस परिवार में कम से कम 2 बच्चे होने आवश्यक है। यदि किसी घर की महिलाओं को दूबारा के प्रसव में जुड़वा बच्चे जनम लेते हैं और उसमें तीसरा बच्चा कन्या होती है तो वह भी इस योजना का लाभ लेने के लिए मान्य होगी यदि दूसरे प्रसव में दो जुड़वा कन्या पैदा होती है तो इन तीनों बेटियों Mukhyamantri Kanya Sumangala Scheme का लाभ प्रदान किया जायेगा। [यह भी पढ़ें- UP गेहूं खरीद ऑनलाइन किसान पंजीकरण 2021: ई-क्रय प्रणाली, eproc.up.gov.in]

मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की योजनाएं

Overview Of Kanya Sumangala Yojana

योजना का नाम मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना
वर्ष 2022
आरम्भ की गई मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा
विभाग महिला एवं बाल विकास विभाग
उद्देश्य राज्य की बेटियों का भविष्य उज्जवल बनाना
लाभार्थी राज्य की बालिकाएं
आवेदन का प्रकार ऑनलाइन/ऑफलाइन
लाभ पढ़ाई के लिए बेटियों को धनराशि प्रदान करना
श्रेणी उत्तर प्रदेश सरकारी योजनाएं
आधिकारिक वेबसाइट http://mksy.up.gov.in

कन्या सुमंगला योजना के उद्देश्य 

यूपी सरकार ने हमारे देश की बेटियों को अच्छी शिक्षा देने के लिए उनके फ्यूचर को अच्छा बनाने के लिए इस कन्या सुमंगला योजना को आरम्भ किया है। इस योजना के तहत हमारे देश की बेटियों को अपने पैरों पर खड़ा होने का मौका मिलेगा उत्तर प्रदेश सरकार यह चाहती है कि समाज में भ्रूण हत्या को बंद किया जाए और नागरिको में बालिकाओ के प्रति सकारात्मक सोच आए और कन्या को भी बेटे के समान ही समझने लगे। मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना का मुख्य उद्देश्य बेटियों को शक्तिशाली वे आत्मनिर्भर बनाना है। [यह भी पढ़ें- उत्तर प्रदेश जाति प्रमाण पत्र आवेदन फॉर्म: UP Caste SC/ST OBC Certificate Apply]

मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना अप्लाई

कन्या सुमंगला योजना के अंतगर्त यूपी सरकार द्वारा ऑनलाइन अप्लाई की प्रक्रिया आरभ कर दी गई है। राज्य के जो भी नागरिक इस योजना के तहत अपनी कन्या का आवेदन कराना चाहते हैं वह इस योजना की ऑफिसियल पोर्टल पर जाकर बहुत सरल अप्लाई करवा सकते हैं जैसे कि ऊपर बताया हमने आपको वैसे ही अप्लाई कर सकते है। इस योजना के अंतगर्त सरकार द्वारा दिए जाने वाले 15000 रुपए की धनराशि सीधे नागरिक के बैंक खाते में PFMS के माध्यम से भेज दिए जायेगे। यदि अगर कोई इस योजना के तहत आवेदन करवाता है तो उसके पास बैंक खाता का होना बहुत आवश्यक है | [यह भी पढ़ें- यूपी राशन कार्ड लिस्ट 2021: UP Ration Card List | APL/BPL New List, राशन कार्ड सूची]

Kanya Sumangala Yojana 2022 की 6 श्रेणियाँ

किश्त दी जाने वाली धनराशि
कन्या के जन्म होने पर 2000 रूपये
बेटी के टीकाकरण होने पर 1000 रूपये
कन्या के कक्षा 1 में प्रवेश करने के उपरांत 2000 रूपये
कन्या के कक्षा 6 में प्रवेश करने के उपरांत 2000 रूपये
कन्या के कक्षा 9 में प्रवेश करने के उपरांत 3000 रूपये
कन्या के 10 वी तथा 12 वी उत्तीर्ण करने के बाद स्नातक /डिग्री या कम से कम डिप्लोमा में प्रवेश के उपरांत 5000 रूपये

16000 बेटियों को मिलेगा कन्या सुमंगला योजना का लाभ

हम जानते हैं कि यूपी कन्या सुमंगला योजना के तहत पात्र आवेदकों के जन्म पर उनके स्नातक होने के समय से लेकर स्नातक होने तक ₹15000 की वित्तीय राशि दी जाती है, यह राशि कुल 6 किश्तों में दी जाती है। इस बार सरकार ने इस योजना के तहत लगभग 16000 बेटियों को लाभान्वित करने का लक्ष्य रखा है। फिलहाल योजना के सत्यापन का काम चल रहा है और सत्यापन के बाद प्रोत्साहन राशि जल्द से जल्द लाभार्थियों के खाते में ट्रांसफर कर दी जाएगी. कन्या सुमंगला योजना के तहत अब तक कुल 27000 लोगों ने आवेदन भरे हैं। इन 27000 आवेदनों में से अब तक कुल 7000 आवेदकों को योजना का लाभ दिया जा चुका है। शेष आवेदनों में से 2100 से अधिक आवेदन वर्तमान में यूपी कन्या सुमंगला योजना के तहत लंबित हैं। [यह भी पढ़ें- (रजिस्ट्रेशन) दिव्यांगजन शादी विवाह प्रोत्साहन योजना 2021: UP Divyang Shadi Apply]

  •  यूपी सरकार द्वारा वर्ष 2019-20 में कन्या सुमंगला योजना के तहत 7000 बेटियों को लाभ मिला है और अब वर्ष 2020-21 में इस योजना के तहत 16000 बेटियों को लाभ मिलेगा।
  • इस योजना के तहत अभी तक मिले 27000 आवेदनों में से 11000 आवेदन खारिज हुए हैं और 21 सौ आवेदन अभी भी विभिन्न विभागों में पेंडिंग हैं और सरकार ने निर्देश दिया है कि इन लंबित आवेदनों का जल्द से जल्द निस्तारण किया जाए।
  • एसडीएम औराई में 352, भदोही में 376, ज्ञानपुर में 704, डीआईओएस कार्यालय में 345, बीएसए कार्यालय में 16, प्रोबेशन कार्यालय में 14, प्रखंड अभोली में 235, औराई में 612, भदोही में 224, ज्ञानपुर में 207 और डीग में 316.

उत्तर प्रदेश कन्या सुमंगला योजना के मुख्य तथ्य

  • इस योजना के तहत, सरकार वित्तीय सहायता के रूप में ₹15000 प्रदान करेगी, जो कि बालिका के जन्म से लेकर उसकी पढ़ाई तक विभिन्न किश्तों में प्रदान की जाएगी।
  • कन्या सुमंगला योजना का लाभ केवल वही लोग प्राप्त कर सकते हैं जिनकी वार्षिक पारिवारिक आय ₹300000 या उससे कम है।
  • उत्तर प्रदेश की राज्य सरकार ने इस योजना के लिए कुल 12:00 सौ करोड़ का बजट निर्धारित किया है।
  • बालिका गोद लेने की स्थिति में परिवार की कुल जैविक संस्थाओं एवं विभिन्न दत्तक संस्थाओं की संख्या दो बालिकाएँ होनी चाहिए, अधिक बालिकाएँ होने पर केवल दो पुत्रियों को ही इस योजना का लाभ दिया जायेगा।
  • कन्या सुमंगला योजना के तहत एक परिवार की अधिकतम दो लड़कियों को ही पात्र माना जाएगा।
किश्त दी जाने वाली धनराशि
बिटिया के जन्म पर बालिका के जन्म होने पर रु 2000 एक मुश्त
टीकाकरण पूर्ण होने पर बालिका के एक वर्ष तक के पूर्ण टीकाकरण के उपरान्त रू 1000 की एक मुश्त राशि
प्रथम कक्षा में प्रवेश पर 2,000 रुपये की एकमुश्त सहायता राशि
कक्षा 6 में प्रवेश पर 3,000 रुपये की आर्थिक सहायता
कक्षा 8 के प्रवेश पर 3 हजार रूपये एकमुश्त
नौवीं कक्षा में 5 हजार रुपये शिक्षा सहायता के रूप में
10वी/12वी पास होने पर स्नातक अथवा डिप्लोमा स्तर की कक्षा में प्रवेश पर 5,000 रुपये एकमुश्त सहायता राशि
बिटिया के 21 वर्ष की आयु पूरी करने पर 2 लाख रुपये एकमुश्त सहायता प्रदान की जाएगी

कन्या सुमंगला योजना जनवरी अपडेट

उत्तर प्रदेश सरकार ने प्राथमिक, उच्च प्राथमिक और उच्च शिक्षा प्राप्त करने वाली राज्य की छात्राओं को 5000 रुपये की वित्तीय सहायता देने का निर्णय लिया है। यह सहायता प्रदान करने का मुख्य उद्देश्य है कि स्कूलों की लड़कियों को मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना से बड़े पैमाने पर जोड़ा जाए और इस प्रयास में उत्तर प्रदेश के जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश स्वयं शामिल हैं। इस संबंध में राज्य के सभी स्कूलों को दिशा-निर्देश जारी कर पात्र लड़कियों का विवरण ऑनलाइन दर्ज करने के निर्देश दिए गए हैं। सूत्रों के अनुसार इस बात का पता चला है कि फरवरी तक 15000 छात्रों को इस योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा, जिसके तहत प्राथमिक उच्च प्राथमिक विद्यालयों की 8000 छात्राएं, माध्यमिक शिक्षा की 5000 छात्राएं और उच्च शिक्षा की 2000 छात्राएं होंगी। [यह भी पढ़ें- यूपी फ्री लैपटॉप योजना 2021: UP Laptop Scheme, ऑनलाइन आवेदन]

कन्या सुमंगला योजना जनवरी अपडेट

उत्तर प्रदेश सरकार ने प्राथमिक, उच्च प्राथमिक और उच्च शिक्षा प्राप्त करने वाली राज्य की छात्राओं को 5000 रुपये की वित्तीय सहायता देने का निर्णय लिया है। यह सहायता प्रदान करने का मुख्य उद्देश्य है कि स्कूलों की लड़कियों को मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना से बड़े पैमाने पर जोड़ा जाए और इस प्रयास में उत्तर प्रदेश के जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश स्वयं शामिल हैं। इस संबंध में राज्य के सभी स्कूलों को दिशा-निर्देश जारी कर पात्र लड़कियों का विवरण ऑनलाइन दर्ज करने के निर्देश दिए गए हैं। सूत्रों के अनुसार इस बात का पता चला है कि फरवरी तक 15000 छात्रों को इस योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा, जिसके तहत प्राथमिक उच्च प्राथमिक विद्यालयों की 8000 छात्राएं, माध्यमिक शिक्षा की 5000 छात्राएं और उच्च शिक्षा की 2000 छात्राएं होंगी। [यह भी पढ़ें- (पंजीकरण) मुख्यमंत्री किसान एवं सर्वहित बीमा योजना 2021: ऑनलाइन आवेदन, शासनादेश देखे]

उत्तर प्रदेश की 9.36 लाख महिलाओं को मिला लाभ

हम सभी लोग जानते हैं कि उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा राज्य की लड़कियों को आत्मनिर्भर और सशक्त बनाने के लिए कन्या सुमंगला योजना शुरू की गई है। इस योजना के माध्यम से बालिकाओं के प्रति नकारात्मक सोच को दूर किया जा रहा है। देखा जाए तो वर्ष 2019 से अब तक लगभग 9.36 लाख लड़कियों को कन्या सुमंगला योजना के तहत लाभान्वित किया जा चुका है। इस योजना के तहत बालिकाओं को जन्म से लेकर स्नातक स्तर तक 6 किश्तों में आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। इस योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य राज्य की बालिकाओं को उज्ज्वल भविष्य प्रदान करना है। [यह भी पढ़ें- (caneup.in) यूपी गन्ना पर्ची कैलेंडर 2021-22 | UP Ganna Parchi Calendar]

कन्या सुमंगला योजना के तहत डायरेक्ट बैंक ट्रांसफर बेनिफिट

उत्तर प्रदेश सरकार ने राज्य की लड़कियों को उच्च शिक्षा प्रदान करने और उनके उज्ज्वल भविष्य के लिए कन्या सुमंगला योजना उत्तर प्रदेश शुरू की थी। इस योजना के तहत सरकार द्वारा बालिकाओं को ₹15000 की वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है। इस वित्तीय सहायता को प्रदान करने के लिए सरकार ने 12 सौ करोड़ रुपये का बजट निर्धारित किया है। इस योजना का उद्देश्य बेटियों के प्रति माता-पिता की नकारात्मक सोच को दूर कर उन्हें शिक्षा के लिए प्रोत्साहित करना है। योजना के तहत लाभ की राशि सीधे लाभार्थी के बैंक खाते में प्रत्यक्ष लाभ अंतरण के माध्यम से प्रदान की जाती है ताकि अभिभावक इस धन का किसी अन्य व्यक्ति द्वारा दुरुपयोग न कर सके। [यह भी पढ़ें- उत्तर प्रदेश बेरोजगारी भत्ता 2021: UP Berojgari Bhatta Online Form]

कन्या सुमंगला योजना के तहत जागरूकता अभियान

उत्तर प्रदेश में जन्मी बेटियों के लिए राज्य सरकार द्वारा कन्या सुमंगला योजना शुरू की गई है। इस योजना के तहत सरकार तीन लाख से कम वार्षिक आय वाले परिवारों को बेटियों के जन्म और शिक्षा के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करेगी। इस योजना की शुरुआत राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संयुक्त रूप से की है। इस योजना में प्रत्येक परिवार जिसमें एक लड़की का जन्म होता है, को 15000 रुपये की राशि प्रदान की जाएगी। परिवार को चरणबद्ध तरीके से राशि दी जाएगी। इस योजना में कोरोना से पहले 2214 बालिकाएं योजना का लाभ उठा चुकी हैं। उम्मीद है कि जल्द ही बजट जारी कर दिया जाएगा और शेष पात्र लड़कियों को भी लाभ दिया जाएगा। [यह भी पढ़ें- श्रमिक पंजीकरण क्या है | मजदूर पंजीकरण के लाभ और बनाये UP Labour Card Online]

  • यूपी कन्या सुमंगला योजना के तहत विभिन्न किश्तों में राशि जारी की जाएगी, जैसे कि बालिका के जन्म के समय, टीकाकरण के समय, कक्षा 1, 5, 9 में प्रवेश के समय और स्नातक उत्तीर्ण होने पर आवेदन करने के लिए उम्मीदवार आधिकारिक अधिसूचना डाउनलोड कर सकते हैं।
  • जहां पात्रता मानदंड और आवेदन प्रक्रिया और अन्य सभी जानकारी भी अच्छी तरह से दी जाएगी।

मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना की विशेषताएं

  • Kanya Sumangala Yojana बेटियों को जन्म से लेकर पढ़ाई करने तक 15000 रूपये की धनराशि खर्च के लिए दी जाएगी।
  • इस योजना में आवेदन करवाने के लिए परिवार की साल की आय 3 लाख या उससे कम होनी आवश्यक है। 
  • कन्या सुमंगला योजना के तहत केवल दो बेटियों को ही पात्र माना जाएगा
  • उत्तर प्रदेश सरकार ने इस योजना पर 1200 करोड़ रुपए की धनराशि का कुल बजट बनाया है। 
  • यदि यूपी में किसी परिवार ने किसी बेटी को गोद लिया है तो परिवार की जैविक संतान तथा गोद ली हुई संतान को सम्मिलित करते हुए केवल दो ही बेटियों को Kanya Sumangala Yojana का लाभ दिया जाएग। 

Benefits Of UP Kanya Sumangala Yojana

  • उत्तर प्रदेश कन्या सुमंगला योजना के अंतगर्त बेटियों का विकास होगा तथा बेटियों को सामाजिक सुरक्षा भी दी जाएगी 
  • राज्य में बेटियों की सुरक्षा, संक्षारण स्वास्थ और शिक्षा संबंधित बाधाएं ख़तम हो जाएंगी 
  • इस योजना में आवेदन आप घर बैठे ही इंटरनेट के द्वारा से कर सकते हैं
  • Kanya Sumangala Yojana का लाभ एक परिवार की 2 बेटिया ले सकती हैं यदि किसी महिला की डिलीवरी के समय जुड़वाँ कन्या होती हैं तो तीसरी बेटी भी इस योजना का लाभ ले सकती है 
  • कन्या सुमंगला योजना के द्वारा बेटियों  में सशक्तिकरण और आत्मनिर्भर को बढ़ावा दिया जाएगा।

कन्या सुमंगला योजना आवेदन की पात्रता 

  • यूपी का निवासी हो और उसके पास स्थायी निवास प्रमाण पत्र जरूरी हो। 
  • नागरिक की पारिवारिक सालाना वार्षिक आय अधिकतम 3 लाख हो।
  • किसी परिवार की अधिकतम दो ही बेटियों को योजना का लाभ मिल सकेगा।
  • परिवार में अधिकतम दो बच्चे हों।
  • किसी महिला को द्वितीय प्रसव से जुड़वा बच्चे होने पर तीसरी बच्चे के रूप में बेटी को भी लाभ अनुमन्य होगा। 
  • यदि किसी महिला को पहले प्रसव से बेटी है व दूसरे प्रसव से दो जुड़वा बेटी हैं तो केवल ऐसी अवस्था में ही तीनों बेटियों को लाभ अनुमन्य होगा।
  • यदि किसी परिवार ने अनाथ बेटी को गोद लिया हो, तो परिवार की जैविक संतानों तथा विधिक रूप में गोद ली गयी संतानों को सम्मिलित करते हुये अधिकतम दो बेटी इस योजना की लाभार्थी होंगी।

Kanya Sumangala Yojana के लिए जरुरी दस्तावेज   

  • राशन कार्ड
  • आधार कार्ड
  • वोटर पहचान पत्र
  • विद्युत/टेलीफोन का बिल मान्य होगा।
  • बैंक अकॉउंट पासबुक
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

mksy.up.gov.in | कन्या सुमंगला योजना 2022 ऑनलाइन आवेदन करे

  • सबसे पहले, आवेदक को महिला और बाल विकास विभाग की MKSY आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा, आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद, होम पेज आपके सामने खुल जाएगा।
मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना
  • इस होम पेज पर आपको सिटीजन सर्विस पोर्टल का विकल्प दिखाई देगा, इस विकल्प पर क्लिक करें। विकल्प पर क्लिक करने के बाद, आपके सामने एक नया पेज खुल जाएगा, इस पेज पर आपको सहमति का विकल्प दिखाई देगा।
  • इस विकल्प के कारण ‘मैं सहमत हूं’ पर टिक करने के लिए और ‘जारी रखें’ पर क्लिक करें। इस पर क्लिक करने के बाद अगला पेज खुलेगा जिस पर रजिस्ट्रेशन फॉर्म मिलेगा।
मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना
  • नाम, आधार नंबर, मोबाइल नंबर और ओटीपी जैसी सभी जानकारी को पंजीकरण फॉर्म में सत्यापित करना होगा। सत्यापन के बाद आपको पंजीकृत किया जाएगा।
  • सफल पंजीकरण के बाद, उपयोगकर्ता आईडी आपके मोबाइल फोन पर प्राप्त होगी। आपको इस यूजर आईडी से लॉगइन करना होगा।
  • फिर यूजर आईडी और पासवर्ड डालकर लॉगइन करना होगा। इसके बाद, आपको लड़की का पंजीकरण फॉर्म दिखाई देगा।
  • इस फॉर्म में पूछी गई जानकारी को सही से भरें और अपने सभी दस्तावेज अपलोड करें और सबमिट बटन पर क्लिक करें। इस तरह आपका आवेदन पूरा हो जाएगा और आपकी बेटी इस MKSY के लिए योग्य हो जाएगी।

मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना ऑफलाइन आवेदन कैसे करे ?

वे सभी लोग जो कन्या सुमंगला योजना के तहत ऑनलाइन आवेदन नहीं कर सकते हैं उनके लिए सरकार ने ऑफलाइन आवेदन की सुविधा शुरू कर दी है। योजना के तहत ऑफलाइन आवेदन करने के लिए आपको नीचे दी गई चरण दर चरण प्रक्रिया का पालन करना होगा।

  • आप कन्या सुमंगला योजना के लिए किसी भी संबंधित सरकारी कार्यालय में जाकर योजना के लिए आवेदन फॉर्म प्राप्त कर सकते हैं।
  • आवेदन फॉर्म प्राप्त करने के बाद आपको इस फॉर्म में मांगी गई सभी जानकारी ध्यान पूर्वक भरनी होगी।
  • सभी जानकारी भरने के बाद इस आवेदन फॉर्म के साथ सभी आवश्यक दस्तावेजों को जोड़ें।
  • अब अपने इस संपूर्ण आवेदन फॉर्म को खंड विकास अधिकारी, एसडीएम, परिवीक्षा अधिकारी, उप मुख्य परिवीक्षा अधिकारी आदि के कार्यालय में जाकर जमा करवा दें।
  • आपके यह आवेदन संबंधित अधिकारी द्वारा जिला प्रोबेशन अधिकारी डीपीओ को भेज दिए जाएंगे।
  • आपके फोन में भरे गए सभी जानकारी डीपीओ द्वारा ऑनलाइन फीट की जाएगी और इन ऑफलाइन फॉर्म की प्रक्रिया आगे ऑनलाइन प्रक्रिया की तरह ही चलेगी।
  • अंत में आप के आवेदन की स्वीकृति हो जाने पर आपको योजना के तहत लाभान्वित किया जाएगा।

सर्वे में हिस्सा लेने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको महिला एवं बाल विकास विभाग उत्तर प्रदेश की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इसके बाद आपके सामने होम पेज खुल आएगा।
  • होम पेज पर आपको सर्वेक्षण के ऑप्शन पर क्लिक कर देना है। इसके बाद आपके सामने सर्वे फॉर्म खुल जाएगा।
सर्वेक्षण
  • अब आपको इस फॉर्म में मांगी गई सभी जानकारी को सही- सही भरना होगी। और आपको सबमिट के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपकी सर्वे में हिस्सा लेने की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी और सर्वे में हिस्सा ले पाएंगे |

फीडबैक लिस्टिंग देखने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको महिला एवं बाल विकास मंत्रालय की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होमपेज खुल जाएगा |
  • वेबसाइट के होमपेज पर आपको प्रतिक्रिया के विकल्प पर क्लिक कर देना है। इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल जायेगा।
Feedback Listings
  • इस पेज में आपके सामने फीडबैक लिस्टिंग से सम्बन्धित सभी जानकारी होगी |

Contact Us

  • सबसे पहले आपको कन्या सुमंगला योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल जायेगा।
  • होम पेज पर आपको संपर्क करें के विकल्प पर क्लिक कर देना है। आपके द्वारा विकल्प पर क्लिक करने के बाद आपके सामने संपर्क करने के लिए पूरी जानकारी पीडीएफ फॉर्मेट में आ जाएगी।



thank you

Leave a Reply

Your email address will not be published.