Ayushman Bharat Health Card, डाउनलोड करे

Author:


जन आरोग्य गोल्डन कार्ड ऑनलाइन | Ayushman Bharat Yojana Golden Card 2021-22 | आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड 2022 डाउनलोड | PM Ayushman Bharat Golden Card Online Download | आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड

आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड हमारी सरकार द्वारा देश के उन नागरिको को आर्थिक सहायता देने के लिए होता है जिन्हे बीमारी होने पर भी इलाज करवाने का कोई मौका नहीं मिलता है। आयुष्मान गोल्डन कार्ड के तहत कोई भी नागरिक आयुष्मान भारत योजना में चुने गए सरकारी और निजी हॉस्पिटलों में अपना 500000 रूपये तक का फ्री में इलाज करवा सकते हैं। उन गरीबों को ही इसका मौका मिलेगा जो आयुष्मान भारत योजना के नागरिक होंगे। Ayushman Golden Card देश में जितने भी गरीब हैं,उन सभी गरीबो को लाभ पहुंचाने के लिए उपलब्ध करवाया जा रहा है। Ayushman Golden Card 2022 बनवाने के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया आरम्भ हो गयी है और कोई भी नागरिक जन आरोग्य योजना के तहत आवेदन करवाने के बाद इस कार्ड को डाउनलोड भी कर सकता है। [यह भी पढ़ें- प्रधानमंत्री बेरोजगारी भत्ता योजना 2021- ऑनलाइन आवेदन (PM Berojgari Bhatta)]

Table of Contents

Ayushman Bharat Golden Card 2022

हमारे देश में आज भी काफी गरीब नागरिक हैं जो बहुत गरीब होने के कारण अपनी किसी भी बीमारी का इलाज नहीं करवा पाते। वह बीमारी के कारण ही मर जाते हैं। ऐसे नागरिको के लिए भारत सरकार द्वारा Ayushman Bharat Golden Card 2022 बनाने का आदेश दिया गया है इस कार्ड के द्वारा आप सरकारी और निजी हॉस्पिटलों में अपना इलाज बहुत आसानी से करा सकते हैं। इस योजना के द्वारा सरकार गरीब नागरिको को 500000 रूपये की धनराशि तक का स्वास्थ्य बीमा दे रही है। आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड का लाभ लेने के लिए आपको पंजीकरण करवाने के लिए आपको अपने नजदीकी जन सेवा केंद्र में जाकर ही आवेदन करवाना होगा। यदि आप लोगों ने अभी तक अपना आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड नहीं बनवाया है तो आप इसे जल्दी से जल्दी बनवा ले। [यह भी पढ़ें- लाइट हाउस प्रोजेक्ट (LHP) | Light House सस्ते फ्लैट्स स्कीम प्रमुख विशेषताएं और लाभ]

सीधे ही सूचीबद्ध अस्पताल से ग्रहण किया जा सकता है योजना का लाभ 

सरकार द्वारा शुरू की गई यह आयुष्मान भारत योजना प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना पात्रता आधारित है, जिसके अंतर्गत नागरिको को लाभ प्राप्त करने के लिए नामांकन अथवा आवेदन करने की ज़रूरत नहीं होती है। इस योजना के अंतर्गत नागरिक मुफ्त इलाज प्राप्त करने के लिए सीधे ही सूचीबद्ध अस्पताल जा सकते है, और कैशलेस इलाज ग्रहण कर सकते है। इस योजना के अंतर्गत जो भी सूचीबद्ध अस्पताल होते है उन सभी में प्रधानमंत्री आरोग्य मित्र मौजूद होता है, जोकि हितग्राही को इस योजना का लाभ ग्रहण करने में मदद करता है। इस योजना का आरम्भ सरकार द्वारा इस उद्देश्य से किया गया है, जिससे भारत को स्वास्थ्य परिस्थितिकी तंत्र के बीच में स्वास्थ्य डेटा की इंटर ऑपरेबिलिटी को सक्षम करने वाला एक ऑनलाइन प्लेटफॉर्म बनाया जा सके और प्रत्येक व्यक्ति का इलेक्ट्रॉनिक स्वास्थय रिकॉर्ड बनाया जा सके। इसके ज़रिये सभी नागरिको के स्वास्थय सेवा को सुलभ बनाने का प्रयास किया जा रहा है। [यह भी पढ़ें- Agneepath Scheme 2022: Apply Online, Agniveer Army Recruitment Eligibility, Full Details]

गोल्डन कार्ड बनवाने में जम्मू-कश्मीर आया देश के पांच शीर्ष राज्य एवं केंद्र शासित प्रदेशों में

इस योजना के अंतर्गत पिछले 6 महीने में करीब 19 लाख आयुष्मान कार्ड जम्मू कश्मीर में बनाये गए है, इसके बाद जम्मू कश्मीर देश के उन 5 राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशो में शामिल हो गया है, जिनमे सबसे अधिक मात्रा में आयुष्मान कार्ड बनवाये गए है। भारत सरकार की नेशनल हेल्थ अथॉरिटी द्वारा इस बात की पुष्टि की गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा 26 दिसंबर 2020 को जम्मू कश्मीर में इस योजना को प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के सेहत के नाम से प्रारम्भ किया गया था। प्रत्येक परिवार को 500000 रुपए का हेल्थ इंशोरेंस इस योजना के अंतर्गत प्रदान किया जायेगा। वह सभी लाभ जो आयुष्मान योजना के अंतर्गत प्रदान किये जाते है, वह सभी लाभ सरकार द्वारा इस योजना के अंतर्गत प्रदान किये  जायेगे। [यह भी पढ़ें- RCH Portal 2022: rch.nhm.gov.in Login, Self Registration & Online Status]

  • जम्मू कश्मीर के सभी नागरिक इस योजना के अंतर्गत लाभ ग्रहण कर सकते है, चाहे वह पेंशनर हो या फिर सरकारी नौकर हो। इस योजना के अंतर्गत अस्पताल में भर्ती होने के 3 दिन पहले एवं 15 दिन बाद तक के खर्च का इंतेजाम  निर्धारित किया गया है। 
  • इस योजना के अंतर्गत 24000 पंजीकृत अस्पतालों में से हितग्राही किसी भी अस्पताल में अपना इलाज करा सकते है। इस योजना के अंतर्गत जम्मू कश्मीर में करीब 226 पंजीकृत अस्पताल है, इसकी निगरानी जम्मू कश्मीर के राज्यपाल  द्वारा की जाती है। 
  • गांव गांव आयुष्मान अभियान का आरम्भ किया गया है, जिससे इस योजना का लाभ सभी नागरिको तक पहुंचाया जा सके और बहुत सी जगहों पर कैंपो का भी आयोजन किया गया है। पंचायती राज संस्थानों के प्रतिनिधि द्वारा इन कैंपो का सहयोग किया जाता है।  

हृदय रोग, कैंसर, स्ट्रोक, मधुमेह की रोकथाम के लिए प्रदान की गई आर्थिक सहायता 

सरकार द्वारा केंद्र सदन में इस बात की घोषणा की गई थी, कि कैंसर, मधुमेह, ह्रदय रोग, व स्ट्रोक के नियंत्रण के लिए 2021-22 के भीतर राष्ट्रिय कार्यक्रम के माध्यम से केंद्र शासित राज्यों को 561178.07 लाख रुपए दिए जायेगे। सामान्य एनसीडी का इलाज सुनिश्चित करने के लिए जिला स्तर पर 677 एनसीडी क्लीनिक की स्थापना व 187 जिला कार्डियक केयर यूनिट, 266 जिला डे केयर सेंटर तथा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र स्टार पर 5392 एनसीडी क्लीनिको की स्थापना एनपीसीडीसीएस के अंतर्गत की गई है। इसके अतिरिक्त स्वास्थ्य देखभाल के उद्देश्य से इन सभी रोगो, सामान्य गैर संचारी रोगो के नियंत्रण और जाँच के लिए सरकार द्वारा जनसंख्या आधारित पहल आरम्भ की गई है। इसके अंतर्गत 30 वर्ष से ज़्यादा उम्र के व्यक्तियों की स्क्रीनिंग होती है। [यह भी पढ़ें- (PMJAY) आयुष्मान भारत योजना 2022: Ayushman Bharat Yojana ऑनलाइन आवेदन]

नरेंद्र मोदी योजना लिस्ट

आयुष्मान भारत योजना 2022

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत देश के प्रधानमंत्री द्वारा वर्ष 2018 में आयुष्मान भारत योजना शुरू की गई है। इस योजना के तहत, गरीब परिवारों को स्वर्ण कार्ड प्रदान किए जाते हैं। इन स्वर्ण कार्डों के माध्यम से, आप गंभीर बीमारी के मामले में चयनित अस्पतालों में 5 लाख तक का मुफ्त स्वास्थ्य कवर (उपचार) प्राप्त कर सकते हैं। ओबामा केयर के बाद इस योजना को सबसे बड़ी स्वास्थ्य योजना माना जाता है। [यह भी पढ़ें- राष्ट्रीय गोकुल मिशन योजना 2021 | PM Rashtriya Gokul Mission Yojana]

आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड

(*14*)हरियाणा में किया जा रहा है आयुष्मान भारत पखवाड़ा कार्यक्रम

हम सभी जानते हैं कि आयुष्मान भारत योजना को सरकार ने गरीब लोगो को सहायता पहुचाने के लिए शुरू किया है, जिसके तहत पात्र नागरिक प्रति वर्ष ₹500000 तक का मुफ्त स्वास्थ्य बीमा ले सकते है। इसके साथ ही हरियाणा सरकार द्वारा 20 सितंबर 2021 को आयुष्मान भारत योजना के सभी पात्र लोगो को आयुष्मान भारत पखवाड़ा के तहत अपना आयुष्मान कार्ड बनवाने का अनुरोध किया है। इस कार्यक्रम के तहत 15 सितंबर 2021 से 30 सितंबर 2021 तक सुविधा दी जाएगी, ताकि राज्य के पात्र लोग अपना आयुष्मान कार्ड अटल सेवा केंद्र या किसी सूचीबद्ध सरकारी या निजी अस्पताल से बनवा सकते हैं। आयुष्मान कार्ड बनवाने के लिए पात्र लोगो को अपने आधार कार्ड, राशन कार्ड और परिवार पहचान पत्र की कॉपी जमा करनी होगी, राज्य सरकार द्वारा इस कार्ड को लेने के लिए आपको कोई शुल्क देने की आवश्यकता नहीं है और इस संबंध में अधिक जानकारी के लिए राज्य के लोग 14555 पर संपर्क कर सकते हैं, यदि आप भी इसके तहत लाभ लेना चाहते है तो आपको इसकी आधिकारिक वेबसाइट पर आवेदन करना होगा उसके बाद ही आपको लाभ दिया जाएगा। [यह भी पढ़ें- प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन पेंशन योजना: PMSYM Registration 2021, ऑनलाइन आवेदन]

आयुष्मान अभियान के तहत किए गए 9 लाख लाभार्थियों का सत्यापन

देश के गरीब नागरिकों को सहायता प्रदान करने के लिए हमारे देश के प्रधान मंत्री द्वारा आयुष्मान भारत योजना शुरू की गई है, अभी हाल ही में इस योजना के तहत प्रधान मंत्री ने बताया है कि 1 फरवरी 2021 से आयुष्मान भारत स्वर्ण योजना की शुरुआत की जाएगी। इस योजना के तहत ग्रामीण और पिछड़े हिस्सों में रहने वाले नागरिकों को जानकारी दी जाएगी। इसके अलावा इस अभियान के माध्यम से उन सभी को आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड बनाने के लिए प्रेरित किया जाएगा। इसके अलावा यह अभियान पंजाब, जम्मू-कश्मीर, हरियाणा, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़, बिहार, उत्तराखंड और अन्य केंद्र शासित प्रदेशों में शुरू किया जाएगा। इस योजना के अंतगर्त नागरिक अपना आयुष्मान कार्ड सीएससी केंद्र और यूटीआईआईटीएसएल केंद्र से निःशुल्क बनवा सकते हैं और इस अभियान से संबंधित अधिक जानकारी लेने के लिए आपको इसकी आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। [यह भी पढ़ें- आयुष्मान भारत योजना लिस्ट 2021: PMJAY लाभार्थी सूची, Jan Arogya List Online]

Ayushman Golden Card 2022 New Update

आयुष्मान गोल्डन कार्ड के तहत कोई भी नागरिक आयुष्मान भारत योजना में चुने गए सरकारी और निजी हॉस्पिटलों में अपना 500000 रूपये तक का फ्री में इलाज करवा सकते हैं, इसके साथ ही इस योजना के तहत पखवाड़े अभियान के अंतगर्त सात दिन में 2.46 लाख नागरिको के गोल्डन कार्ड बनाए गए हैं, और बताया गया है की यह पखवाड़ा नौ अगस्त तक चलेगा। इस दौरान जिन नागरिको को प्रधानमंत्री का पत्र मिला है, वह सभी अपने आसपास लगने वाले शिविर में जाकर मुफ्त में कार्ड बनवा सकते हैं, और केंद्र सरकार द्वारा Ayushman Bharat Health Card के तहत यह भी बताया गया है की 26 जुलाई से 1 अगस्त तक आयुष्मान भारत पखवाड़ा आयोजित किया जा रहा है, और करीब 40 लाख अन्त्योदय कार्डधारक परिवार को भी इस योजना के तहत शामिल किया गया है। [यह भी पढ़ें- नरेगा जॉब कार्ड लिस्ट 2021: नई MGNREGA कार्ड सूची, NREGA Card डाउनलोड]

आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड न्यू अपडेट

उत्तराखडं राज्य के मुख्य सचिव कार्मिक राधा रतूड़ी की अध्यक्षता में रोडवेज कर्मियों की एक बैठक का आयोजन हुआ है। इस बैठक में मुख्य सचिव के माध्यम से बताया गया है की उत्तराखंड के सभी सार्वजानिक निगमों के कर्मचारियों को दिसम्बर तक आयुष्मान भारत योजना के अंतगर्त जन आरोग्य कार्ड उपलब्ध होंगे। वैश्चिक महामारी कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते बायोमेट्रिक प्रक्रिया में देरी हो रही है। [यह भी पढ़ें- समग्र शिक्षा अभियान-2.0: Samagra Shiksha Scheme, उद्देश्य, लाभ व कार्यान्वयन]

Highlights of the Ayushman Bharat Yojana Golden Card

योजना का नाम आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड 2022
वर्ष 2022
किसके द्वारा शुरू की गई केंद्र सरकार द्वारा
योजना का उद्देश्य मुफ्त इलाज प्रदान करना
योजना के लाभार्थी देश के आर्थिक रूप से कमजोर लोग
आरंभ तिथि 14 अप्रैल 2018
आवेदन का प्रकार ऑनलाइन आवेदन
सहायता राशि 5 लाख रुपए
आधिकारिक वेबसाइट http://pmjay.gov.in 

आयुष्मान अभियान के तहत किए गए सत्यापित लाभार्थियों की संख्या

राज्य का नाम संख्या
छत्तीसगढ़ 6 लाख
मध्य प्रदेश 1,23,488
उत्तर प्रदेश 80,377
पंजाब 38,488
उत्तराखंड 7,460
हरियाणा 8,247
बिहार 16,070

दूसरे के नाम का गोल्डन कार्ड जारी होने पर करें शिकायत दर्ज

केंद्र सरकार द्वारा देश के कमजोर वर्ग के लोगों को ₹500000 तक का मुफ्त बीमा प्रदान करने के लिए आयुष्मान भारत योजना शुरू की गई है। इस योजना के तहत लाभ प्राप्त करने के लिए व्यक्तियों के गोल्डन कार्ड बनाए जा रहे हैं। लेकिन इस बीच अगर आपको अपना आयुष्मान गोल्डन किसी और कारण से नहीं मिला है और किसी और के नाम पर जारी कर दिया गया है, तो चिंता करने की कोई बात नहीं है। जिला सूचना प्रबंधन कौरव की ओर से बताया गया कि ऐसी शिकायत मिलने पर मामले की जांच की जाएगी, अगर आपको भी ऐसी किसी समस्या का सामना करना पड़ा है तो आप नीचे दिए गए टोल फ्री नंबर पर संपर्क करके अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं। [यह भी पढ़ें- प्रधानमंत्री छात्रवृत्ति योजना 2021: ऑनलाइन आवेदन, PM Scholarship Scheme]

  • टोल फ्री नंबर- 180018004444/ 14555

Ayushman Bharat Golden Card बनवाना हुआ फ्री

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि आयुष्मान भारत योजना 2017 में सरकार के माध्यम से शुरू की गई थी। इस योजना के तहत, लाभार्थियों को the 500000 तक का स्वास्थ्य बीमा कवर प्रदान किया जाता है। 1 करोड़ 63 लाख से अधिक लाभार्थी इस योजना का लाभ उठा रहे हैं। आयुष्मान भारत कार्ड के माध्यम से, लाभार्थी किसी भी निजी अस्पताल में जा सकते हैं और अपना इलाज करवा सकते हैं। [यह भी पढ़ें- (रजिस्ट्रेशन) ई-श्रम पोर्टल 2021: eshram.gov.in, श्रमिक कार्ड ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन व लॉगिन]

  • आयुष्मान भारत कार्ड के तहत पात्रता कार्ड भारत सरकार द्वारा नि: शुल्क बनाया गया है। जिसके लिए 30 चार्ज देना पड़ता था। इस फैसले से गरीब परिवारों को काफी राहत मिलेगी। आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थी पात्रता कार्ड प्राप्त करने के लिए कॉमन सर्विस सेंटर से संपर्क करते थे और ग्रामीण स्तर के ऑपरेटर को 30 का भुगतान करते थे।
  • इसके बाद उन सभी को कार्ड मिल जाता था। परन्तु अब यह कार्ड मिलना पूरी तरह से मुफ्त है। लेकिन अगर आपको डुप्लिकेट कार्ड प्राप्त करना है या यदि आपको कार्ड को फिर से प्रिंट करना है, तो आपको यह भुगतान करना होगा 15. यह कार्ड बायोमेट्रिक प्रमाणीकरण के बाद लाभार्थियों को दिया जाएगा।

एनएचए का सीएससी से समझौता

राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण ने सीएससी के साथ समझौता किया है। जिसके तहत यह तय किया गया है कि राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण पहली बार आयुष्मान कार्ड के मुद्दे पर 20 से सीएससी को भुगतान करेगा। ताकि व्यवस्था को और बेहतर बनाया जा सके। इस समझौते का एक उद्देश्य यह है कि पीवीसी आयुष्मान कार्ड इस योजना के तहत तैयार किए जा सकते हैं। आपको बता दें कि आयुष्मान भारत योजना का लाभ लेने के लिए पीवीसी कार्ड लेना अनिवार्य नहीं है। जिन लाभार्थियों के पास पुराना कार्ड है, उन्हें इस योजना का लाभ दिया जाएगा। पीवीसी कार्ड बनाने के उद्देश्यों में से एक यह है कि इसके माध्यम से, अधिकारी आसानी से लाभार्थी की पहचान करने में सक्षम हैं। [यह भी पढ़ें- पीएम किसान सम्मान निधि सुधार 2021: PM Kisan Correction Update]

लाभार्थियों को निशुल्क PVC कार्ड का लाभ

Ayushman Bharat Golden Card को हमारे प्रिय प्रधानमंत्री द्वारा 2017 में गरीब परिवारों को 5 लाख रुपये तक का निशुल्क इलाज उपलब्ध कराने के लिए शुरू किया गया था। आयुष्मान भारत योजना के तहत नागरिको को इलाज कराने के लिए पात्रता कार्ड बनवाना बहुत आवश्यक है इसका प्रयोग करके वह देश के किसी भी अस्पताल में अपना इलाज बहुत आसानी से निशुल्क करा सकता हैं। पहले पात्रता कार्ड को बनवाने के लिए 30 रुपये का शुल्क प्रदान करवाना पड़ता था पर मोदी सरकार द्वारा अब इस कार्ड को निशुल्क कर दिया गया है। यदि देश का कोई भी नागरिक आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड  के द्वारा कार्ड बनवाना चाहता है तो उसे अपने नजदीकी सेवा केंद्र में जाकर संपर्क करना होगा वहां उस नागरिक का निशुल्क कार्ड बन जायेगा। यदि किसी नागरिक को अपना डुप्लीकेट कार्ड या अपना कार्ड प्रिंट करवाना है तो उसे 15 रुपये का भुगतान देना आवश्यक है। [यह भी पढ़ें- किसान सम्मान निधि योजना लिस्ट 2021: pmkisan.gov.in List, पीएम किसान किस्त कैसे देखें]

PM Ayushman Bharat Golden Card New Update

उत्तराखंड की मुख्य सचिव कार्मिक राधा रतूड़ी जी ने कर्मचारी संयुक्त परिषद की बैठक में कहा है कि इस योजना के तहत दिसंबर 2020 तक उत्तराखंड के सभी सार्वजनिक निगमों के कर्मचारियों को गोल्ड कार्ड प्रदान किए जाएंगे। यह योजना सभी निगमों में लागू की जाएगी। इस गोल्ड कार्ड के माध्यम से, सभी लाभार्थी अपनी सबसे बड़ी बीमारी का इलाज मुफ्त में कर सकते हैं। [यह भी पढ़ें- सीएससी केंद्र क्या है? CSC Center कैसे खोले, सीएससी रजिस्ट्रेशन व लॉगिन करे]

प्रधान मंत्री की अन्य सरकारी योजनाएँ :-

Ayushman Bharat Golden Card का उद्देश्य

  • Ayushman Bharat Golden Card का उदेश्य है कि गरीबी रेखा के नीचे आने वाले परिवारों को 500000 रूपये तक का स्वास्थ्य बीमा दिया जायेगा। 
  • इस योजना का उद्देश्य है कि जो गरीब बहुत बड़ी बीमारी से गुजरते हुए अपना इलाज नहीं करा पाते  उनका इलाज ठीक तरीके से हो।
  • आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड योजना  का उद्देश्य है कि गरीब नागरिक को बीमारियों से बचाया जाए।
  • इस योजना के द्वारा देश के लगभग 10 करोड़ से अधिक गरीबों को स्वास्थ्य बीमा दिया जायेगा। 
  • Ayushman Golden Card के द्वारा हमारे प्रधानमंत्री चाहते हैं कि देश को स्वस्थ वआत्म निर्भर बनाना चाहिए।

Ayushman Golden Card के लिए जरूरी दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर
  • राशन कार्ड
  • पासपोर्ट साइज फोटो

आयुष्मान भारत गोल्डन हेल्थ कार्ड प्राप्त करने के लिए पात्रता कि जांच कैसे करे?

वह सभी लोग जो नीचे दी गयी Ayushman Bharat Golden Card की पात्रता सूची में शामिल किये जायेंगे उन्हें ही जन आरोग्य कार्ड का लाभ दिया जायेगा। यहाँ आपको आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड की पूरी प्रकिया दी गयी है।

  • सबसे पहलेआपको आयुष्मान भारत योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आ जायेगा।
  • वेबसाइट के होमपेज पर आपको दिए गए स्थान में पंजीकृत मोबाइल नंबर भरकर “Generate OTP” के बटन पर क्लिक कर देना है। इसेक बाद आपके मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी आएगा।
  • आपको इस ओटीपी को दिए गए स्थान में भरकर अपने “Submit” कर देना है। इसके बाद आपके सामने कुछ विकल्प दिखाई देंगे।
    • मोबाइल नंबर से
    • राशन कार्ड के द्वारा
    • RSBI URN द्वारा
  • अपनी इच्छा के अनुसार किसी एक विकल्प का चयन करके पूछी गयी सभी जानकारियों को भर दे। अब आपके सामने इससे संबंधित सभी जानकारी खुल कर आ जाएगी।

पीएम आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड कैसे बनवाएं

वह सभी लोग जो PMJAY गोल्डन कार्ड बनवाना चाहते है तो आप नीचे दिए गए आसान से चरणों के द्वारा गोल्डन कार्ड के लिए आवेदन कर सकते हैं। आप निम्न दो तरीको से अपना गोल्डन कार्ड बनवाकर डाउनलोड कर सकते हैं।

जन सेवा केंद्र द्वारा

  • सबसे पहले आपको निकटतम लोक सेवा केंद्र पर जाना होगा।
  • जन सेवा केंद्र के में आपको अपना नाम आयुष्मान भारत योजना की सूची में चेक कराना होगा।
  • यदि आपका नाम उस सूची में उपलब्ध है, तो आपको एक गोल्डन कार्ड दिया जाएगा।
  • इसके बाद, आपको अपने आवश्यक दस्तावेजों को जन सेवा केंद्र के एजेंटों को देना होगा, जैसे आधार कार्ड, राशन कार्ड, पंजीकृत मोबाइल नंबर।
  • इसके बाद, एजेंट आपको पंजीकृत करेंगे और आपको पंजीकरण आईडी प्रदान करेंगे।
  • पंजीकरण आईडी प्राप्त करने के बाद, जन सेवा केंद्र आपको 10 से 15 दिनों में आयुष्मान कार्ड प्रदान करेगा।
  • आपको आयुष्मान भारत गोल्डन बनाने के लिए शुल्क का भुगतान करना होगा, जो कुल फीस 30 रुपए है।

पंजीकृत और निजी हॉस्पिटलों के माध्यम से

  • सबसे पहले आपको अपने नजदीकी  निजी या सरकारी अस्पतालों में अवहसिका दस्तावेजों जैसे: – आधार कार्ड ,राशन कार्ड, पंजीकृत मोबाइल नंबर आदि को साथ ले जाना है।
  • सीके बाद आपका नाम  जन आरोग्य हेल्थ योजना की सूची जांचा जायेगा। इस सूची में आने के बाद ही आपको आयुष्मान कार्ड प्रदान किया जायेगा।

आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड कैसे डाउनलोड करे?

जिनका नाम जन आरोग्य स्वास्थ्य कार्ड सूची में आया है, वे आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड जन सेवा केंद्र या डीएम कार्यालय से मुद्रित किए जा सकते हैं। हालाँकि, आप गोल्डन डेटा डाउनलोड कर सकते हैं जिसमें से आपने इसे बनाया था या जिस एजेंट से इसे बनाया गया था। इसके लिए आपको दिए गए चरणों का पालन करना होगा।

  • सबसे पहले आपको आयुष्मान भारत योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होमपेज खुल जायेगा।
आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड
  • वेबसाइट के होमपेज पर आपको “लॉगिन” का विकल्प दिखाई देगा। आपको ऑप्शन पर क्लिक करना है, उसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुलेगा।
  • इस पेज पर, आपको प्रदान की गई जगह में ईमेल आईडी और पासवर्ड दर्ज करना होगा और “साइन इन” बटन पर क्लिक करना होगा।
  • आपके सामने एक नया पेज खुलेगा, यहां आपको दिए गए स्थान में अपना आधार नंबर भरकर अपने अंगूठे के निशान को सत्यापित करना होगा।
  • आपका अंगूठा सत्यापित होने के बाद आपको कुछ और विकल्प दिखाई देंगे। इसमें से आपको Approved Beneficiary के विकल्प पर क्लिक करना है। इस विकल्प पर क्लिक करने के बाद, आपका गोल्डन कार्ड स्वीकृत हो जाएगा।
  • इसके बाद, आपको अल सूची दिखाई देगी, यहां अपना नाम देखें और पुष्टि किए गए प्रिंट विकल्प पर क्लिक करें। विकल्प पर क्लिक करने के बाद, आपको जन सेवा केंद्र वॉलेट पर पुनर्निर्देशित किया जाएगा।
  • अब आपको CSC वॉलेट में लॉगिन करने के लिए अपना पासवर्ड और वॉलेट डालना होगा। इसके बाद आप होमपेज पर जाएं और उम्मीदवार के नाम के आगे डाउनलोड कार्ड बटन पर क्लिक करें।
  • अब आपका आयुष्मान भारत गोल्ड कार्ड डाउनलोड हो जाएगा। इस तरह आपका आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड डाउनलोड हो जाएगा।

(*10*)हेल्थ बेनिफिट पैकेज से जुड़ी जानकारी प्राप्त करने की प्रक्रिया 

  • सबसे पहले आपको आयुष्मान भारत योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है। इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल जायेगा। 
  • वेबसाइट के होम पेज पर आपको मैन्युबार में मौजूद हॉस्पिटल के सेक्शन में से हेल्थ बेनिफिट पैकेज के विकल्प पर क्लिक कर देना है। इसके बाद आपके सामने अगला पेज खुल जायेगा। 
हेल्थ बेनिफिट पैकेज
  • इस पेज पर आपको अपनी ज़रूरत के मुताबिक विकल्प का चुनाव कर लेना है। इस प्रकार आप हेल्थ बेनिफिट पैकेज से जुड़ी सभी जानकारी देख सकते है। 

डैशबोर्ड देखने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको आयुष्मान भारत योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है। इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल जायेगा। 
  • वेबसाइट के होम पेज पर आपको मैन्यूबार के विकल्प पर क्लिक कर देना है। इसके बाद आपको डैशबोर्ड के विकल्प पर क्लिक करना है। 
  • अब आपके सामने अगला पेज प्रदर्शित हो जायेगा। इस पेज पर आप डैशबोर्ड देख सकते है। 

फीडबैक देने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको आयुष्मान भारत योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है। इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल जायेगा। 
  • वेबसाइट के होम पेज पर आपको मेन्यूबार के विकल्प पर क्लिक करना है। इसके बाद आपको फीडबैक के विकल्प पर क्लिक कर देना है। अब आपके सामने फीडबैक फॉर्म प्रदर्शित हो जायेगा। 
फीडबैक
  • इस फॉर्म में आपको पूछी गई सभी जानकारी का विवरण जैसे- आपका नाम, ईमेल आईडी, मोबाइल नंबर, रिमार्कस, कैटेगिरी, कैप्चा कोड आदि दर्ज कर देना है। 
  • अब आपको सबमिट के विकल्प पर क्लिक करना है। इस प्रकार आप फीडबैक दे सकते है।

ग्रीवेंस दर्ज करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको आयुष्मान भारत योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है। इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल जायेगा। 
  • वेबसाइट के होम पेज पर आपको ग्रीवेंस पोर्टल के विकल्प पर क्लिक कर देना है। इसके बाद आपके सामने अगला पेज खुल जायेगा। 
(*5*)
  • इस पेज पर आपको रजिस्टर योर ग्रीवेंस के विकल्प पर क्लिक करना है। अब आपको ग्रीवेंस कैटेगरी में PMJAY का चुनाव करना होगा। 
  • अब आपको रजिस्टर के विकल्प पर क्लिक कर देना है। अब आपके सामने ग्रीवेंस फॉर्म प्रदर्शित हो जायेगा। 
  • इस फॉर्म में आपको पूछी गई सभी जानकारी का विवरण दर्ज कर देना है। जैसे:-
    • ग्रीवेंस बाय 
    • केस टाइप 
    • इनरोलमेंट स्टेटस 
    • जेंडर 
    • नेम 
    • डेट ऑफ़ बर्थ 
    • कॉन्टेक्ट नंबर 
    • डिस्ट्रिक्ट 
    • स्टेट 
    • एड्रेस 
    • ईमेल 
    • ग्रीवेंस अगेंस्ट 
    • नेचर ऑफ़ ग्रीवेंस 
    • ग्रीवेंस डिस्क्रिप्शन आदि 
  • इसके बाद आपको फाइल अपलोड कर देनी है और सबमिट के विकल्प पर क्लिक कर देना है। 
  • इस प्रकार आप ग्रीवेंस दर्ज कर सकते है।

आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड हेल्पलाइन नंबर ?

यदि आपको किसी तरह की कोई जानकारी प्राप्त करनी है या आप किसी प्रकार की समस्या का सामना कर रहे है तो आप दिए गए हेल्पलाइन नंबर पर कॉल सकते है या इसके साथ ही आप अपनी शिकायत को ईमेल ID में ईमेल भेज कर अपनी परेशानी को साँझा कर सकते है। 

ईमेल ID [email protected]
हेल्पलाइन नंबर 14555 / 1800111565
एड्रेस  ninth Floor, Tower-L जीवन भारती बिल्डिंग कनॉट प्लेस, नई दिल्ली– 110001

FAQ’s 

क्या आयुष्मान भारत कार्ड परिवार के सभी सदस्यों का बनना जरुरी है ?

जी हा इस योजना का लाभ लेने के लिए परिवार के सभी सदस्यो का कार्ड बनवाना होगा इसके द्वारा आपको 25 लाख तक का बीमा उपलब्ध कराया जाएगा इसके तहत आप फ्री में इलाज करवा सकते है। 

गोल्डन कार्ड कहाँ जाकर बनवा सकते है ?

गोल्डन कार्ड को आप फ्री में बनवा सकते है इसके लिए आपको CSC (कॉमन सर्विस सेंटर) या आपके नजदीकी कोई भी सरकारी हॉस्पिटल में जाना होगा   

इस योजना के तहत कोन-सी बीमारियों का इलाज किया जायेगा ?

इस योजना के तहत 1300 बीमारियों का इलाज किया जाएगा जिसमे डायबिटीज, कैंसर, किडनी, लिवर, दिल की बीमारी आदि शामिल हैं जिनका इलाज चुने हुए हॉस्पिटल में कराया जा सकता है।

आयुष्मान कार्ड अभियान के लिए कौन अप्लाई कर सकते है ?

इस योजना को देश में रहने वाले सभी नागरिको की सुरक्षा के लिए शुरू किया गया है इसका लाभ कोई भी नागरिक प्राप्त कर सकता है। इस योजना में अप्लाई करने का प्रोसीजर हमने आपको ऊपर बताया है। 

आयुष्मान भारत जन आरोग्य हेल्थ कार्ड योजना क्या है?

माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा वर्ष 2017 में आयुष्मान भारत जन आरोग्य हेल्थ कार्ड योजना की शुरुआत की गई थी, जिसके तहत लोगो को 5 लाख का स्वास्थ्य बीमा दिया जाता है। योजना के अंतर्गत गरीब और मजदूर लोग सरकार द्वारा चयनित सरकारी या प्राइवेट हॉस्पिटल्स में 5 लाख तक का मुफ्त इलाज कर सकते है।

इस योजना का कार्ड बनवा के किसी भी नागरिक को कितने रुपये तक का मुफ्त इलाज मिलेगा ?

इस योजना के कार्ड के द्वारा नागरिक किसी भी गवर्नमेंट हॉस्पिटल या प्राइवेट हॉस्पिटल में जाकर इलाज करा सकता है इसके साथ ही नागरिक अपना 5 लाख रुपये तक का मुफ्त इलाज भी करा सकता है। 

इस योजना से जुडी जानकारी के लिए हेल्पलाइन नंबर क्या है ?

आपके सभी सवालो का जवाब देने के लिए एक हेल्पलाइन नंबर भी है आप इसपर  1800111565 कॉल कर सकते है। 

क्या इस योजन के द्वारा कोरोना के समय की महामारी का खर्चे भी कवर होगा ?

सरकार ने इस योजना को सभी नागरिको की सहायता और उन्हें लाभ पहुंचाने के लिए शुरू किया है कोरोना संक्रमण और संक्रमित लोगो के सभी खर्च को आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड के द्वारा कवर किया जाएगा।



thank you

Leave a Reply

Your email address will not be published.