कुसुम योजना ऑनलाइन आवेदन 2022

Author:


PM Kusum Yojana 2022 | कुसुम योजना ऑनलाइन आवेदन | Kusum Yojana Application Form | Kusum Yojana Registration | कुसुम योजना 2022

केंद्रे सरकार द्वारा किसानो के लिए एक नई योजना का आरम्भ किया गया है जिसका नाम किसान ऊर्जा सुरक्षा उत्थान महाअभियान है जिसे हम कुसुम योजना के नाम से भी जानते हैं। जैसे कि हम सब जानते हैं कि आज भी हमारे देश में किसानों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। केंद्रे सरकार ने किसानों की इसी कठनाई को देखते हुए इस योजना को शुरू किया है। PM Kusum Yojana 2022 के तहत किसानों को सिंचाई करने के लिए सरकार सौर ऊर्जा से चलने वाले पंप प्रदान करवाएगी। तो दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल द्वारा बताएंगे किस तरह आपको इस योजना में आवेदन करना होगा। और हम आप सभी को इस योजना की सभी जानकारिया भी प्रदान करेंगे जैसे कि कुसुम योजना के लाभ, इस योजना के उदेश्य क्या है तथा इस योजना में आवेदन करने के लिए जरूरी दस्तावेज आदि। यदि आपको कुसुम योजना के लिए आवेदन करना हैं तो आप से अनुरोध है कि आप हमारे इस आर्टिकल को विस्तार से अंत तक पढ़े। [यह भी पढ़ें- (रजिस्ट्रेशन) विधवा पेंशन योजना 2021: Vidhwa Pension ऑनलाइन आवेदन, State Wise List]

Table of Contents

PM Kusum Yojana 2022

केंद्र सरकार द्वारा सभी किसानों के लिए कुसुम योजना को शुरू किया है। PM Kusum Yojana के तहत सिंचाई करने के लिए काम किए जाने वाले पंप जो कि डीजल या पेट्रोल से चलते हैं उन्हें केंद्र सरकार सौर ऊर्जा से चलने वाले पंपों में बदलेगी। PM Kusum Yojana के 2 फायदे हैं। पहला यह कि किसानों को सौर ऊर्जा से चलने वाले पंप मोहिया कराए जाएंगे इससे उन्हें डीजल या पेट्रोल से चलने वाले पंप की आवश्यकता पड़ेगी। दूसरा यह कि किसानों को इन पंप सेट के साथ ऊर्जा पावर ग्रिड दिए गए हैं और जो भी अतिरिक्त बिजली किसानों के पास जमा होगी उसे वह सरकार को सीधे भेज देंगे। और इसके द्वारा किसानों की आय में भी वृद्धि होगी। [यह भी पढ़ें- (रजिस्ट्रेशन) ई-श्रम पोर्टल 2021: eshram.gov.in, श्रमिक कार्ड ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन व लॉगिन]

  • कुसुम योजना के तहत खेती की सिंचाई के लिए सौर ऊर्जा पंप बनवाये जाएंगे,
  • और कुसुम योजना का फायदा उन किसानों को दिया जाएगा जो सूखे से प्रभावित होते हैं ताकि उनकी फसलों को नुकसान से बचाया जाए।
  • कुसुम योजना के तहत 3 करोड़ सौर ऊर्जा संयंत्रों स्थापना की कुल लागत 1.4 करोड रुपए हैं, और इस राशि का वाहन केंद्रे सरकार द्वारा प्रदान किया जाएगा।
  • किसानों को केवल 10 फ़ीसदी ही इसका देना होगा
  • जबकि 48 हजार करोड़ का इंतजाम बैंक लोन से किया गया है।
कुसुम योजना ऑनलाइन

प्रधानमंत्री मोदी योजनाएं

पीएम कुसुम योजना सम्बंधित फेक वेबसाइट से रहे सावधान

मंत्रालय के संज्ञान में आया है कि केंद्र सरकार द्वारा आरम्भ की गयी कुसुम योजना के अंतर्गत विभिन्न मोबाइल एप्लीकेशन एवं फर्जी वेबसाइट संचालित की जा रही है। इन फर्जी मोबाइल एप्लीकेशन एवं वेबसाइट के माध्यम से आवेदकों को इस योजना के अंतर्गत सोलर पंप लगवाने के लिए ऑनलाइन आवेदन पत्र भरने एवं पंजीकरण शुल्क तथा पंप की कीमत का भुगतान ऑनलाइन करने को कहा जा रहा है। इस बात को मद्देनजर रखते हुए केंद्र सरकार ने सभी किसानो को ऐसी फर्जी वेबसाइट से सावधान रहने को तथा किसी भी प्रकार के भुगतान को न करने को कहा है। इक्छुक किसान जो इस योजना से सम्बंधित कोई भी जानकारी प्राप्त करना चाहता है, वह नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय की आधिकारिक वेबसाइट अथवा टोल फ्री नंबर 18001803333 पर संपर्क कर सकता है। [यह भी पढ़ें- किसान सम्मान निधि लिस्ट 2022 | pmkisan.gov.in 10th List, PM Kisan Status]

राजस्थान के नागरिक 31 मार्च 2022 तक कर सकते है आवेदन

हम सभी लोग जानते है की केंद्रे सरकार द्वारा किसानो को सहायता प्रदान करने के लिए कुसुम योजना को शुरू किया गया है। केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गई कुसुम योजना का मुख्य उद्देश्य यह है की देश के किसानो को सोलर पेनल प्रदान किये जाएंगे ताकि उन सभी को किसी परेशानी का सामना नहीं करना पड़े। इसके साथ ही राजस्थान सरकार ने इस योजना के तहत इच्छुक नागरिको को सहायता देने के लिए एक रहत भरी घोषणा की है। राजस्था सरकार ने बताया है की कुसुम योजना के तहत राज्य के लोग पहले 7 जुलाई 2021 तक ही आवेदन कर सकते थे, लेकिन अब हमने इसे बढ़ाकर 31 मार्च 2022 तक कर दिया है। यदि राज्य का कोई भी नागरिक इस योजना का लाभ प्राप्त करना चाहते है तो वह 31 मार्च 2022 तक आवेदन कर सकते है। [यह भी पढ़ें- समग्र शिक्षा अभियान-2.0: Samagra Shiksha Scheme, उद्देश्य, लाभ व कार्यान्वयन]

पीएम कुसुम योजना का कार्यान्वयन

हम सभी जानते हैं कि हमारे देश में कुछ किसान भाई ऐसे हैं जिन्हें खेती में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है और आर्थिक कमजोरी के कारण अपना जीवन व्यतीत करना पड़ता है, इसी को ध्यान में रखते हुए सरकार ने सोलर पंप की शुरुआत की। केंद्र सरकार के तहत कुसुम योजना शुरू की गई है। उपयोग से अपनी आय बढ़ाने के उद्देश्य से। इस योजना के सफल क्रियान्वयन के साथ किसानों को सोलर पंप लगाने और सोलर उत्पाद खरीदने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए 50,000 करोड़ रुपये का बजट आवंटन किया गया है। इस योजना के द्वारा साल 2021 में किसानों को 20 लाख सोलर पंप लगाने में सहायता प्रदान की जाएगी। सरकार द्वारा इस योजना के माध्यम डीजल से चलने वाले कृषि पंपों को शुरू किया जाएगा। केंद्र सरकार के माध्यम से इस सोलर पंप वितरण योजना के तह उन सभी प्रदेश के लोगो को फाइदा होगा, जो किसानो के खेतो में हो रही सूखे की समस्या को खत्म करेगी। केंद्र सरकार के माध्यम वर्ष 2022 तक इस योजना के प्रधान मंत्री जी के द्वारा किसानों की आय में बढ़ोतरी की जाएगी और इसके अलावा साल 2022 तक 1.4 लाख रुपये की लागत से 3 करोड़ सोलर पंप की जाएंगे। [यह भी पढ़ें- प्रधानमंत्री कर्म योगी मानधन योजना 2021 – PM Karam Yogi Mandhan Yojana]

पीएम सौर ऊर्जा कुसुम योजना की विशेषताएं

  • केंद्र सरकार के माध्यम से आरम्भ की गई पीएम कुसुम योजना के तहत देश के किसानो की आय दुगनी होगी और इसके अलावा, वह सौर ऊर्जा और अक्षय ऊर्जा के प्रयोग से आत्मनिर्भर बन पाएगे।
  • इस योजना के तहत किसान इन सोलर पैनल के माध्यम से बनने वाली अतिरिक्त बिजली की आपूर्ति ग्रिड को कर सकेंगे, जिसके माध्यम से उन सभी अतिरिक्त आय मिलेगी।
  • केंद्र सरकार के माध्यम से इस योहाना के तहत किसान को कुल लागत का 10% ही खर्च करनी है, इसके साथ ही 30% राशि बैंक माध्यम से लोन के द्वारा और 60% राशि दी जाएगी।
  • किसान सोलर पैनल के लिए अपनी बंजर या अनुपयुक्त भूमि का उपयोग कृषि के लिए कर सकेंगे।
  • केंद्र सरकार ने सौर ऊर्जा से चलने वाले 17.5 लाख सिंचाई पंप लगाने का लक्ष्य रखा है, जिससे गरीब किसानों की सिंचाई की समस्या खत्म हो जाएगी |

कुसुम योजना के कॉम्पोनेंट्स

  • सौर पंप वितरण: इस योजना के प्रथम स्टेप्स के दौरान केंद्र सरकार के विभागों के साथ मिलकर बिजली विभाग, सौर ऊर्जा संचालित पंप के सफल वितरण कर दिया जाएगा।
  • सौर ऊर्जा कारखाने का निर्माण: इस योजना का निर्माण कर दिया जाएगा जबकि पर्याप्त मात्रा में बिजली का उत्पादन करने की क्षमता रखते हैं।
  • ट्यूबवेल की स्थापना: सरकार द्वारा ट्यूबवेल की स्थापना की जाएगी जो कुछ निश्चित मात्रा में बिजली उत्पादन करेंगे।
  • वर्तमान पंपों का आधुनिकरण: वर्तमान पंपों का आधुनिकरण भी कर दिया जाएगा कथा पुराने पंपों को नए सौर पंपो से बदल दिया जाएगा।

Rajasthan Kusum Yojana Registration 2022

इस योजना के तहत कृषि की सिंचाई के लिए इस्तेमाल होने वाले पंपों को सौर ऊर्जा से चलने वाले पंपों में बदला जाएगा। कुसुम योजना उन राज्यों के किसानों के लिए लाभदायक होगी जो सूखे से प्रभावित हैं और इससे उनकी फसलों को कम नुकसान होगा। कुसुम योजना 2022 के तहत 2022 तक 3 करोड़ सौर ऊर्जा संयंत्र स्थापित करने की कुल लागत 1.4 लाख करोड़ रुपये होगीऔर इतनी ही राशि राज्य सरकार देगी। इस Kusum Yojana 2022 के तहत देश के किसानों को कुल लागत का केवल 10 प्रतिशत ही देना होगा जबकि 48 हजार करोड़ रुपये की व्यवस्था बैंक ऋण के माध्यम से की जाएगी। [यह भी पढ़ें- पंचायत वोटर लिस्ट 2021: State Wise उ प न्यू पंचायत मतदाता सूची, Panchayat Voter List]

कुसुम योजना की नई अपडेट

13 नवंबर को बिजली मंत्रालय और केंद्र सरकार द्वारा, देश के लाखों किसानों को अधिक लाभ प्रदान करने के लिए कुसुम योजना का दायरा बढ़ा दिया गया है। इस दायरे में देश के किसानों को नया आवंटन जारी किया जाएगा। जिसके बाद किसान अपना बिजली संयंत्र शुरू कर सकेंगे। बिजली मंत्रालय की इस घोषणा के तहत अब बंजर, परती, कृषि भूमि, चारागाह और दलदली भूमि पर सौर ऊर्जा संयंत्र लगाए जा सकेंगे। मंत्रालय के बयान के मुताबिक छोटे किसान भी योजना का लाभ उठा सकते हैं, छोटे किसानों की मदद के लिए राज्य सरकार 500 किलोवाट से कम क्षमता वाले प्रोजेक्ट को मंजूरी दे सकती है। [यह भी पढ़ें- (List) प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना लिस्ट 2021: PMAY-G संशोधित लिस्ट]

कुसुम योजना नई अपडेट

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के माध्यम से 18 फरवरी 2021 को बजट प्रावधानों के प्रभावी कार्यान्वयन पर एक वेबिनार का आयोजन किया गया है। इस वेबिनार के चलते उन्होंने बताया है कि पीएम कुसुम योजना ने अन्नादता को पावर दाता में बदला गया है। प्रधान मंत्री जी के द्वारा यह बताया गया है कि कुसुम योजना के अंतगर्त सरकार का यह मुख्य लक्ष्य है की कृषि क्षेत्रों में छोटे बिजली संयंत्र स्थापित करके 30 गीगावॉट सौर ऊर्जा क्षमता मिल सके। इस योजना के माध्यम से अभी तक 4 गीगावॉट बिजली की क्षमता हो गे है और 2.5 गीगावॉट क्षमता को जल्द ही शामिल किया जाएगा, आगे 1 से 1.5 सालो के भीतर केंद्र सरकार के द्वारा कुसुम योजना से 40 गीगावॉट सौर ऊर्जा उत्पन्न किया जाएगा। सरकार द्वारा यह सौर ऊर्जा उत्पादन छतों पर सौर परियोजनाओं द्वारा मिलेंगे। [यह भी पढ़ें- सॉइल हेल्थ कार्ड स्कीम 2021: Soil Health Card, मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना की जानकारी]

कुसुम सोलर पंप योजना आवेदन शुल्क

कुसुम योजना के द्वारा आवेदक को सौर ऊर्जा संयंत्र के लिए आवेदन करने का भुगतान 5000 रूपये प्रति मेगावाट और GST की दर से पंजीकरण शुल्क का भुगतान कर देना है। इस भुगतान को प्रबंध निर्देशक राजस्थान अक्षय ऊर्जा निगम के नाम से डिमांड ड्राफ्ट के रूप में होगा। पंजीकरण करने के लिए 0.5 मेगावाट से लेकर 2 मेगावाट तक के लिए आवेदन भुगतान कुछ इस तरह है। [यह भी पढ़ें- एलआईसी की कन्यादान पॉलिसी क्या है | पंजीकरण फॉर्म, पात्रता जानकारी (LIC Kanyadan)]

मेगा वाट आवेदन शुल्क
0.5 मेगावाट ₹ 2500+ जीएसटी
1 मेगावाट ₹5000 + जीएसटी
1.5 मेगावाट ₹7500+ जीएसटी
2 मेगावाट ₹10000+ जीएसटी

Highlights of Kusum Yojana 2021 

आर्टिकल किसके बारे में है कुसुम योजना
किस ने लांच की स्कीम भारत सरकार
लाभार्थी भारत के किसान
उद्देश्य किसानों को सिंचाई करने के लिए सौर पंप प्रदान करना
ऑफिशियल वेबसाइट यहां क्लिक करें
साल 2021
स्कीम उपलब्ध है या नहीं उपलब्ध

वित्तीय संसाधनों का अनुमान

किसान द्वारा प्रोजेक्ट लगाने पर

सौर ऊर्जा संयंत्र की क्षमता 1 मेगावाट
अनुमानित निवेश 3.5 से 4.00 करोड़ रुपए प्रति मेगावाट
अनुमानित वार्षिक विद्युत उत्पादन 17 लाख यूनिट
अनुमानित टैरिफ ₹3.14 प्रति यूनिट
कुल अनुमानित वार्षिक आय ₹5300000
अनुमानित वार्षिक खर्च ₹500000
अनुमानित वार्षिक लाभ ₹4800000
25 वर्ष की अवधि में कुल अनुमानित आय 12 करोड़ रुपया

किसान द्वारा भूमि लीज पर देने पर

1 मेगावाट हेतु भूमि की आवश्यकता 2 हेक्टेयर
प्रति मेगावाट विद्युत उत्पादन 17 लाख यूनिट
अनुमति लीज रेंट 1.70 लाख से 3.40 लाख

कुसुम योजना का उद्देश्य

PM Kusum Yojana का उद्देश्य है कि देश के सभी किसानों को सिंचाई के लिए सौर ऊर्जा से चलने वाले पंप को मुहैया कराना है। यदि किसानों के पास सौर ऊर्जा से चलने वाले पंप है तो उन्हें पेट्रोल या डीज़ल से चलने वाले पंपों का प्रयोग नहीं करना पड़ेगा। और इससे पैसों की बचत होगी और उनके जीवन में भी सुधार आएगा। केंद्रे सरकार इसी के साथ पावर ग्रिड भी देगी। जिसके द्वारा बिजली बचाकर किसान सीधे बिजली सरकार को बेच सकते हैं।इससे किसानों की आय में भी वृद्धि होगी। [यह भी पढ़ें- [KIYG] खेलो इंडिया यूथ गेम 2021 रजिस्ट्रेशन | Khelo India Youth Games एंट्री फॉर्म]

राजस्थान कुसुम योजना लागत और आय

आने वाले समय में करीब 20 लाख किसान राजस्थान कुसुम योजना के दायरे में आएंगे। इससे 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने के सरकार के लक्ष्य को हासिल किया जा सकेगा। पहले 17.5 लाख किसानों को कुसुम योजना के तहत कवर करने का लक्ष्य था। इस योजना का लाभ उठाने के लिए किसानों को कुल लागत का केवल 10% ही भुगतान करना होगा। 30% राशि सरकार द्वारा किसानों को सब्सिडी के रूप में और 30% राशि किसानों को ऋण के रूप में प्रदान की जाएगी। इस योजना के माध्यम से, भूमि मालिक अगले 25 सालों में सौर ऊर्जा संयंत्र स्थापित करके ₹ 60000 से ₹ 100000 प्रति वर्ष की आय प्राप्त कर सकता है। कुसुम योजना से न केवल बिजली की बचत होगी बल्कि 30,800 मेगावाट अतिरिक्त बिजली भी पैदा की जा सकेगी। [यह भी पढ़ें- (रजिस्ट्रेशन) ई श्रमिक कार्ड क्या है | E-Shram Card Registration, CSC लॉगिन, eshram.gov.in]

कुसुम योजना में किसानों को मिल रहा लाभ

सरकार द्वारा मिल रही कुसुम योजना से किसानों को काफी लाभ मिल रहा है। इस योजना के माध्यम से राज्य के किसान सोलर सिस्टम लगाकर और सौर ऊर्जा से पम्पसेट चलाकर अपने खेतों की ठीक से सिंचाई कर पा रहे हैं, जिससे उनकी आय भी बढ़ रही है। इस योजना के माध्यम से प्रदेश के सभी किसानों के खेतों में सिंचाई के लिए बिजली की समस्या का समाधान हो गया है। किसानों की इस योजना में 30 प्रतिशत अनुदान केंद्र सरकार और 30 प्रतिशत राज्य सरकार और 30 प्रतिशत अनुदान नाबार्ड द्वारा दिया जा रहा है। शेष 10 प्रतिशत राशि किसान को जमा कराकर सोलर सिस्टम लगाया जा रहा है। [यह भी पढ़ें- Service Plus: सर्विस प्लस पोर्टल रजिस्ट्रेशन, लॉगइन | State Wise Certificate Apply]

  • इस योजना के तहत 3 से 7.5 एचपी के पंपसेट लगाए जा रहे हैं। किसान को 3 एचपी के 20 हजार 549 रुपये, 5 एचपी के लिए 33 हजार 749 रुपये और 7.5 एचपी के लिए 46 हजार 687 रुपये किसान को जमा किए जा रहे हैं।
  • ऐसा करने पर ही वह अपने खेतों में सिंचाई के लिए पंप सेट लगवा सकता है। इस योजना के तहत राज्य के जो किसान अपने खेतों में सोलर पावर सिस्टम लगाने के लिए कर्ज ले रहे हैं, वे दिए गए कर्ज का भुगतान नकद में नहीं कर सकते हैं, सौर ऊर्जा से बिजली का उत्पादन करके राज्य के किसान अन्य किसानों या सरकार को अतिरिक्त पैसा देते हैं एवं आयकर ऋण की किश्तों का भुगतान कर सकता है।

Kusum Yojana के लाभ

  • कुसुम योजना के तहत कमदरों पर सिंचाई करने के लिए सौर पंप प्रदान किये जाएंगे।
  • कुसुम योजना का लाभ देश का कोई भी किसान ले सकता है।
  • योजना के तहत  किसानों को 10 फीसदी लागत का देना होगा।
  • 2022 तक कुसुम योजना के दवरा कम से कम तीन करोड़ पंपों को डीजल और बिजली की जगह सौर ऊर्जा से चलाने का लक्ष्य केंद्र सरकार ने निर्धारित किया है।
  • Kusum Yojana के द्वारा अगर किसान अतिरिक्त बिजली बचाकर किसी भी सरकारी या गैर सरकारी बिजली विभाग को भेजेंगे तो उसकी कीमत किसान को मिल जायगी। इसके द्वारा किसानों को 1 महीने में 6000 रूपये तक मिल सकते हैं।

प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना 2021

  • कुसुम योजना के द्वारा कम से कम 28000 मेगावाट एक्स्ट्रा बिजली का उत्पादन हो सकता है।
  • कुसुम योजना के तहत पहले चरण में 17।5 लाख सिंचाई पंपों को सौर ऊर्जा में चलाया जाएगा।
  • डीजल खपत में कमी आएगी।
  • किसानों की आय में वृद्धि होगी।
  • PM Kusum Yojana के तहत आने वाले खर्चे में 60% केंद्र सरकार देगी 30% बैंक लोन से आर्थिक सहायता दी जाएगी अथवा किसान को सिर्फ 10% लागत का भुगतान करना पड़ेगा।
  • उन सारे राज्यों में जहां सूखा पड़ता है और बिजली की परेशानी रहती है उन राज्यों में कुसुम योजना बहुत फायदेमंद साबित होगी।
  • सौर प्लांट से 24 घंटे बिजली रहेगी।

Pradhan Mantri Solar Panel Yojana 2021 पात्रता मानदंड

इस योजना का लाभ लेने के लिए नई और नई ऊर्जा मंत्रालय द्वारा कोई पात्रता निर्धारित नहीं की गई है। भारत के किसी भी राज्य के किसान सौर या नवीकरणीय ऊर्जा संचालित सौर पंपों का उपयोग करके अपनी आय बढ़ाने के लिए इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।

प्रधान मंत्री की अन्य सरकारी योजनाएँ :-

Kusum Solar Pump Scheme 2021

वित्त मंत्री ने वर्ष 2021 का बजट पेश करते हुए कहा कि 15 लाख किसानों को ग्रिड से जुड़े सोलर पंप लगाने के लिए फंड मुहैया कराया जाएगा, इसी के द्वारा किसानों को अपनी बंजर जमीन पर सोलर पंप परियोजना स्थापित करने के बाद अतिरिक्त बिजली ग्रिड बेचने का ऑप्शन मिलेंगे। जो भी राजस्थान के इच्छुक किसान Kusum Solar Pump Scheme के तहत इन सभी सुविधाओं का लाभ लेना चाहते है, तो उन सभी को जल्द से जल्द आवेदन करवाना होगा और योजना का लाभ लेना होगा। [यह भी पढ़ें- किसान विकास पत्र योजना 2021 | Kisan Vikas Patra, ब्याज दर, कैलकुलेटर, टैक्स बेनिफिट्स]

Kusum Yojana के लाभार्थी

  • किसान
  • किसानों का समूह
  • सहकारी समितियां
  • पंचायत
  • किसान उत्पादक संगठन
  • जल उपभोक्ता एसोसिएशन

कुसुम योजना में आवेदन करने के लिए महत्वपूर्ण दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • बैंक अकाउंट पासबुक
  • आय प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • पता का सबूत
  • पासपोर्ट साइज फोटो

PM Kusum Yojana 2022 में आवेदन करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको कुसुम योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होमपेज खुल जाएगा।
  • वेबसाइट के होमपेज पर आपको “ऑनलाइन पंजीकरण” का विकल्प दिखाई देगा। आपको इस विकल्प पर क्लिक करना है।
  • इसके बाद आपके सामने एक आवेदन फॉर्म खुलेगा। इस फॉर्म में आपको पूछी गई सभी जानकारी जैसे नाम, पता, आधार नंबर, मोबाइल आदि दर्ज करना होगा।
Kusum Yojana Form
  • अब आपको सभी आवश्यक दस्तावेजों को निर्धारित स्थान पर अपलोड करना होगा। किसानों को यहां अपना आधार नंबर और राष्ट्रीयकृत बैंक खाते की स्कैन कॉपी अपलोड करनी होगी।
  • आवेदन पत्र में आपके द्वारा दर्ज किए गए सभी विवरणों की जांच करने के बाद, भेजें पर क्लिक करें। इस तरह आपका पंजीकरण सफलतापूर्वक जमा हो जाएगा।
  • सभी प्रक्रिया के अंत में, सौर पंप सेट की लागत का 10% एकत्र करने के लिए विभाग द्वारा चर्चा की जाएगी।
  • यदि उपयुक्त राशि का निर्देश दिया जाता है, तो आपके खेत / जमीन पर स्थापित सौर पंप 90 से 120 दिनों के भीतर चालू हो जाएगा।

कंपोनेंट्स की सूची देखने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको कुसुम योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होमपेज खुल कर आ जायेगा।
  • वेबसाइट के होमपेज पर आपको “REGISTRATION FOR COMPONENT-A UNDER KUSUM SCHEME” का विकल्प दिखाई देगा। अब आपको Jaipur, Jodhpur, Ajmer, में से किसी एक विकल्प पर क्लिक कर देना है।
  • आपके द्वारा क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आ जायेगा, इसके बाद आपको इस पेज में एक पीडीऍफ़ लिस्ट दिखाई देगी।
  • इसके बाद आपको उस पीडीऍफ़ लिस्ट में कंपोनेंट्स संबंधित सभी जानकारी मिल जाएगी, अब आप इस लिस्ट को डाउनलोड भी कर सकते है।
  • इस तरह आप कंपोनेंट्स से सम्बन्धित जानकारी देख व डाउनलोड कर सकते है।

कुसुम योजना में आवेदन की सूची देखने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले, आपको कुसुम योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • इसके बाद आपको कुसुम के लिए पंजीकृत आवेदन की सूची वाले विकल्प को ढूंढना होगा।
  • इस विकल्प को प्राप्त करने के बाद, आपको उस पर क्लिक करना होगा।
  • इसे क्लिक करने पर आवेदकों की सूची खुल जाएगी।
  • अब आप इस सूची में अपना नाम देख सकते हैं।

उत्तर प्रदेश कुसुम योजना के तहत आवेदन करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको कुसुम योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इसके बाद आपके सामने होम पेज खुल कर आ जायेगा।
उत्तर प्रदेश कुसुम योजना
  • वेबसाइट के होम पेज पर आपको प्रोग्राम के विकल्प पर क्लिक कर देना है, इसके बाद आपको सोलर एनर्जी प्रोग्राम के विकल्प पर क्लिक कर देना है।
  • इसके बाद आप को कुसुम योजना के विकल्प पर क्लिक कर देना है, अब आपके सामने एक नया पेज खुल कर आ जाएगा।
कुसुम योजना
  • इस पेज में आपको पंजीकरण के विकल्प पर क्लिक कर देना है अब आपके सामने पंजीकरण फॉर्म खुल कर आ जाएगा।
  • अब आपको इस फॉर्म में पूछी गई सभी महत्वपूर्ण जानकारी दर्ज कर देना है, अब आपको सभी महत्वपूर्ण दस्तावेजों को अपलोड कर देना है।
  • इसके बाद आपको रजिस्टर के विकल्प पर क्लिक कर देना है, और इस तरह आप उत्तर प्रदेश कुसुम योजना के तहत पंजीकरण कर सकते है।

महाराष्ट्र कुसुम योजना के तहत आवेदन करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको कुसुम योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इसके बाद आपके सामने होम पेज खुल कर आ जायेगा।
महाराष्ट्र कुसुम योजना के तहत आवेदन
  • वेबसाइट के होम पेज पर आपको अप्लाई फॉर कुसुम योजना के विकल्प पर क्लिक कर देना है, इसके बाद आपके सामने आवेदन फॉर्म खुलकर आ जाएगा।
  • अब आपको इस फॉर्म में पूछी गई सभी महत्वपूर्ण जानकारी दर्ज कर देना है, इसके बाद आपको सभी महत्वपूर्ण दस्तावेजों को अपलोड कर देना है।
  • इसके बाद आपको सबमिट के विकल्प पर क्लिक कर देना है और इस तरह आप महाराष्ट्र कुसुम योजना के तहत आवेदन कर सकते है।

हरियाणा कुसुम योजना के तहत आवेदन करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको कुसुम योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इसके बाद आपके सामने होम पेज खुल कर आ जायेगा।
हरियाणा कुसुम योजना के तहत आवेदन
  • वेबसाइट के होम पेज पर आपको कुसुम योजना के लिए आवेदन करें के विकल्प पर क्लिक कर देना है, इसके बाद आपके सामने आवेदन फॉर्म खुल कर आ जाएगा।
  • अब आपको इस फॉर्म में पूछी गई सभी महत्वपूर्ण जानकारी दर्ज कर देना है, इसके बाद आपको सभी दस्तावेजों को अपलोड कर देना है।
  • आपके द्वारा सभी दस्तावेज को अपलोड करने के बाद, आपको सबमिट के विकल्प पर क्लिक कर देना है।
  • इस तरह आप हरियाणा कुसुम योजना के तहत आवेदन कर सकते है।

Contact Information

हमने इस लेख के माध्यम से आपको कुसुम योजना से जुडी सभी जानकारी दी हैं। यदि आपको इस योजना से सम्बंधित किसी भी तरह समस्या आ रही है तो आप निचे दिए गए हेल्पलाइन नंबर और ईमेल आईडी के द्वारा मदद ले सकते हैं।

  • Contact Number- 011-243600707, 011-24360404
  • Toll-Free Number- 18001803333

Important Download

Important Links



thank you

Leave a Reply

Your email address will not be published.