ऑनलाइन आवेदन, लाभ व पात्रता

Author:


Atmanirbhar Swasth Bharat Yojana Apply | प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना (PMASBY) | Atmanirbhar Swasth Bharat Yojana Form PDF Download | आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना ऑनलाइन आवेदन

हमारे देश की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी के द्वारा 1 फरवरी 2021 देश के आम बजट की पेशकश की गई है । इस बजट में कुछ नयी योजनाओं की भी शुरुआत की गई है। इन योजना में एक योजना आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना है। इस आर्टिकल के द्वारा हम आपको इस योजना से जुडी सभी जानकारी प्रदान करेंगे, जैसे Atmanirbhar Swasth Bharat Yojana क्या है? लाभ, तथा उद्देश्य, पात्रता, आवेदन प्रक्रिया आदि। यदि आप आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना से जुडी सभी जानकारी जानना चाहते हैं तो आप से अनुरोध है कि हमारे इस आर्टिकल को ध्यान से पूरा पढ़े । [यह भी पढ़ें- (फॉर्म) किसान क्रेडिट कार्ड योजना 2021: लाभार्थी सूची, KCC List, कार्ड स्टेटस]

Table of Contents

Atmanirbhar Swasth Bharat Yojana 2022

केंद्र सरकार द्वारा आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना 2022 के अंतगर्त हेल्थ सेक्टर के तीन क्षेत्रों पर ध्यान देने के लिए इस योजना की शुरुआत की गयी है। इस योजना के द्वारा तीन क्षेत्र बचाव, इलाज तथा रिसर्च सरकार ने आगे के 6 वर्ष के लिए 64180 करोड़ का बजट बनाया गया है। इस योजना के द्वारा मौजूदा हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर को बुहत मजबूत बनाया जाएगा, क्योंकि आने वाले टाइम की परेशानियों को सोचते  हुए नए संस्थानों की भी शुरुआत की गयी है, क्योंकि हमारा देश आने वाले टाइम में स्वास्थ्य के क्षेत्र में बुहत आगे बढ़े। Atmanirbhar Swasth Bharat Yojana 2021 यह योजना नेशनल हेल्थ मिशन के द्वारा शुरू की जाएगी। इस योजना का आरम्भ  पूरी तरह से केंद्र सरकार द्वारा किया जायेगा। इस योजना के अंतगर्त 17000 ग्रामीण तथा 11000 शहरी हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर को समर्थन प्रदान किया जाएगा। [यह भी पढ़ें- (ONORC) एक देश एक राशन कार्ड योजना: One Nation One Ration Card ऑनलाइन आवेदन]

आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना

PM Modi Yojana

आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना की शुरुआत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा 25 अक्टूबर 2021 को उत्तर प्रदेश के वाराणसी में  दोपहर 1:15 बजे प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना के शुभारंभ की घोषणा की जाएगी। इस बात की जानकारी प्रधानमंत्री दफ्तर से मुहैया की गई है। इसके अतिरिक्त 25 अक्टूबर 2021 को सुबह 10:30 बजे प्रधानमंत्री जी के द्वारा सिद्धार्थ नगर से राज्य में 9 मेडिकल कॉलेज का उद्घाटन भी किया जाएगा। अब तक प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना के अंतर्गत 157 नए मेडिकल कॉलेज शुरू किये जा चुके है।इसके अलावा प्रधानमंत्री जी के द्वारा विभिन्न प्रकार की विकास योजनाओं का भी उद्घाटन तथा अन्य कई योजनाओ की घोषणा भी जाएगी। यह योजनाएं 5200 करोड रुपए की होंगी। इस योजना को आरंभ करने की घोषणा सत्र 2021-22 के बजट में की गई थी। जिसके लिए सरकार द्वारा आने वाले 6 वर्षों हेतु 64180 करोड़ रुपए का बजट निर्धारित किया गया था। [यह भी पढ़ें- (Live) pmkisan.gov.in Status 2021: PM Kisan 9वी किस्त List, Payment Status]

इंटीग्रेटेड हेल्थ इंफॉर्मेशन पोर्टल की शुरुआत

प्रधानमंत्री जी के द्वारा 25 अक्टूबर 2021 को इंटीग्रेटेड हेल्थ इनफॉरमेशन पोर्टल का भी शुभारंभ किया गया है। आत्मनिर्भर स्वास्थ्य भारत योजना की शुरुआत करते समय ही इस पोर्टल की शुरूआत करने की घोषणा भी की गई थी। इस इंटीग्रेटेड हेल्थ इनफॉरमेशन पोर्टल के माध्यम से देश की सभी पब्लिक हेल्थ लैब को एक साथ  जोड़ा जाएगा। देश के 602 जिलों में क्रिटिकल केयर अस्पतालों का निर्माण किया जाएगा।इस योजना के माध्यम से देश में 17778 गांवों और 11024 शहरी क्षेत्रों में वैलनेस सेंटर भी स्थापित किये जाएंगे। इसके अतिरिक्त 10 राज्यों का चयन किया जाएगा जिसके सभी जिलों में इंटीग्रेटेड पब्लिक हेल्थ लैब भी खोले जाएंगे। 3382 ब्लॉक में पब्लिक हेल्थ यूनिट भी स्थापित किए जाएंगे। Atmanirbhar Swasth Bharat Yojana के अंतर्गत 2 मोबाइल हॉस्पिटल और 15 हेल्थ इमरजेंसी ऑपरेशन सेंटर भी विकसित किए जाएंगे। [यह भी पढ़ें- (Registration) वोटर आईडी कार्ड: ऑनलाइन एप्लीकेशन, Voter ID Card Apply]

Highlights of Atmanirbhar Swasth Bharat Yojana 2022

नाम आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना 2022
आरम्भ की गई वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी के द्वारा
वर्ष 2022
बजट ₹ 64,180 करोड़
लाभार्थी भारत के नागरिक
उद्देश्य  स्वास्थ्य क्षेत्र का विकास करना
लाभ  स्वास्थ्य सेवाओं का विस्तार
श्रेणी केंद्र सरकारी योजनाएं
आधिकारिक वेबसाइट  जल्द लांच की जाएगी

आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना बजट

 हमारे देश की वित्त मंत्री निर्मला सीताराम जी के द्वारा Atmanirbhar Swasth Bharat Yojana  के अंतगर्त 1 फरवरी 2021 के लिए यूनियन बजट शुरुआत की गई है। सरकार ने यूनियन बजट 2021-22 में शुरू करने का निर्णय लिया है। हमारे देश के स्वास्थ्य क्षेत्र को इस योजना के द्वारा अच्छा बनाया जाएगा। आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना के द्वारा  केंद्र सरकार ने 64,180 करोड़ रुपए  की धनराशि का बजट शुरू किया गया है। इस बजट को आने वाले 6 साल के लिए शुरू किया गया है। इस बजट के द्वारा हमारे  देश के अस्पताल, प्रयोगशालाओं आदि को अच्छा बनाया जायेगा । आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना के अंतगर्त रिसर्च पर भी बुहत ध्यान दिया जाएगा। कियोकि आगे के समय में आने वाली बीमारियों  से  देश के नागरिकों को रक्षा की जा सके। [यह भी पढ़ें- प्रधानमंत्री श्रमिक सेतु पोर्टल 2021 | PM Shramik Setu App डाउनलोड ऑनलाइन]

602 जिलों में बनाए जाएंगे क्रिटिकल केयर हॉस्पिटल ब्लॉक

केंद्र सरकार द्वारा इस योजना के तहत देश के 602 जिलों में क्रिटिकल केयर अस्पताल स्थापित किए जाएंगे, और यह जानकारी अधिकारी ने कैबिनेट बैठक के दौरान दी है । इन क्रिटिकल केयर अस्पतालों में 5 क्षेत्रीय शाखाएं और 20 महानगरीय स्वास्थ्य निगरानी इकाइयां भी संचालित की जाएंगी। इसके साथ ही सरकार की ओर से कहा गया है कि सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रयोगशालाओं को जोड़ने और लोगों तक जानकारी को एकीकृत करने के लिए एक स्वास्थ्य सूचना पोर्टल का भी विस्तार किया जाएगा. इसके अलावा, 17 नई सार्वजनिक स्वास्थ्य इकाइयां, 32 हवाई अड्डे, 11 बंदरगाह और लैंड क्रॉसिंग भी चालू हो जाएंगे। [यह भी पढ़ें- (ONORC) एक देश एक राशन कार्ड योजना: One Nation One Ration Card ऑनलाइन आवेदन]

15 स्वास्थ्य आपातकालीन संचालन केंद्र

केंद्र सरकार द्वारा इस योजना के तहत 15 स्वास्थ्य आपातकालीन संचालन केंद्र और दो मोबाइल अस्पताल भी स्थापित किए जाएंगे। नेशनल इंस्टीट्यूट फॉर वन हेल्थ डब्ल्यूएचओ दक्षिणपूर्व एशिया क्षेत्र के लिए प्रयोगशालाओं और वायरोलॉजी के लिए चार क्षेत्रीय राष्ट्रीय संस्थानों की स्थापना के लिए एक क्षेत्रीय अनुसंधान मंच होगा। इन 15 आपातकालीन ऑपरेशन केंद्रों द्वारा विभिन्न प्रकार के आपातकालीन रोगियों की तुरंत जांच और उपचार किया जाएगा ताकि उन्हें किसी प्रकार की कठिनाई का सामना न करना पड़े। [यह भी पढ़ें- (रजिस्ट्रेशन) ई-श्रम पोर्टल 2021: eshram.gov.in, श्रमिक कार्ड ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन व लॉगिन]

प्रधान मंत्री की अन्य सरकारी योजनाएँ :-

आत्मनिर्भर भारत योजना के अंतर्गत किए जाने वाले कार्य एवं मंजूरी

  • देश की स्वास्थ्य सुविधाओं के इंफ्रास्ट्रक्चर को मजबूत बनाने के लिए से आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना आरंभ की गई है।
  • इस योजना के द्वारा पब्लिक हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर में सामने आयी क्रिटिकल कमियों को पूर्ण किया जाएगा।
  • आत्मनिर्भर भारत योजना के माध्यम से ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों का क्रिटिकल केयर सुविधा तथा  प्रायमरी केयर मुख्य लक्ष्य तय किया गया है।
  • सभी राज्यों में 11024 शहरी स्वास्थ्य कल्याण केंद्रों की भी स्थापना की जाएगी तथा हाई फोकस वाले 10 राज्यों के 17788 ग्रामीण स्वास्थ्य और कल्याण केंद्रों में मदद दी जाएगी।
  • भारत देश के वह सभी जिले जिनमें 5 लाख से अधिक आबादी है उन सभी जिलों में एक्सक्लूसिव क्रिटिकल केयर हॉस्पिटल ब्लॉक के माध्यम से क्रिटिकल केयर सेवाएं भी दी जाएगी, तथा अन्य सभी जिलों को रेफर सेवाओं के द्वारा कवर किया जाएगा।
  • इस योजना के माध्यम से स्वास्थ्य सुविधाओं हेतु राष्ट्रीय स्तर पर राष्ट्रीय संस्थान, 4 नए राष्ट्रीय वायरोलॉजी संस्थान, 9 जैव सुरक्षा स्तर 3 की प्रयोगशाला, डब्ल्यूएचओ दक्षिण पूर्वी एशियाई के लिए क्षेत्रीय अनुसंधान मंच, राष्ट्रीय रोगपर रोक हेतु नियंत्रण केंद्र की पांच क्षेत्रीय इकाइयां भी स्थापित करने का फैसला लिया गया है।
  • भारत में सभी राज्यों के सभी जिलों में एकीकृत जन स्वास्थ्य प्रयोगशाला भी स्थापित की जाएंगी।
  • सभी सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रयोगशालाओं को राज्य एवं केंद्र शासित प्रदेशों से आसानी से जोड़ा जा सके।
  • इन सब के अतिरिक्त इस योजना के द्वारा एक आईटी सक्षम रोग निगरानी प्रणाली भी स्थापित की जाएगी।
  • शहरी क्षेत्रों में ब्लॉक, जिला, क्षेत्रीय और राज्य स्तर पर निगरानी प्रयोगशालाओं का एक समूह विकसित किया जाएगा।
  • इसके अलावा नेशनल सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल का भी विकास किया जाएगा।
  • 12 सेंट्रल इंस्टिट्यूशन तथा 600 जिलों में क्रिटिकल केयर हॉस्पिटल ब्लॉक की शाखाये स्थापित की जाएगी।
  • एक एकीकृत स्वास्थ्य सूचना पोर्टल भी शुरू किया जाएगा। इस पोर्टल के द्वारा
  • दो मोबाइल हॉस्पिटल तथा 15 हेल्थ इमरजेंसी ऑपरेशन सेंटर भी इस योजना के माध्यम से स्थापित किये जायेगे।

आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना की परियोजनाएं

 हमारे देश की वित्त मंत्री निर्मला सीताराम जी के द्वारा इस योजना में  सभी जिलों के 3382 ब्लॉक में एकीकृत सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रयोगशालाओं की स्थापना शुरू की जाएगी। इस योजना के द्वारा  सार्वजनिक स्वास्थ्य इकाई भी स्थापित की जाएंगी। आत्मनिर्भरस्वस्थ भारत योजना के अंतगर्त 602 जिलों में हॉस्पिटल ब्लॉक भी शुरू किये जायेगे। इस योजना अंतगर्त नेशनल सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल को भी शुरू करने का काम भी किया जायेगा। आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना 2021 के अंतर्गत एक इंटीग्रेटेड हेल्थ इंफॉर्मेशन पोर्टल की भी शुरुआत  की जाएगी और17 नई सार्वजनिक स्वास्थ्य इकाइयां शुरू की जाएंगी और मौजूदा सार्वजनिक स्वास्थ्य कार्यों को समर्थन प्रदान किया जाएगा। Atmanirbhar Swasth Bharat Yojana अंतगर्त स्वास्थ्य क्षेत्र के अंतर्गत 15 स्वास्थ्य आपातकालीन संचालन केंद्र तथा दो मोबाइल अस्पतालों की भी शुरुआत की जाएगी। इस योजना के द्वारा कोविड-19 वैक्सीन के लिए भी 35000 करोड रुपए की धनराशि भी जमा की गयी  हैं। [यह भी पढ़ें- वन नेशन वन गैस ग्रिड योजना 2021: One Nation One Gas Grid Registration Form]

नेशनल केयर फॉर डिजीज कंट्रोल को समर्थन

भारत सरकार द्वारा शुरू की गई Atmanirbhar Swasth Bharat Yojana के अंतर्गत तीन शाखाओ पर अधिक  ध्यान दिया जाएगा जो कि बचाव, इलाज और रिसर्च है। जिस के द्वारा हम आने वाले समय में कोरोनावायरस या अन्य किसी महामारी से सफलतापूर्वक बचाव कर सके। इसी प्रकार भारत की अर्थव्यवस्था तथा अन्य सभी व्यवस्थाओं को ध्यान में रखते हुए नेशनल केयर फॉर डिजीज कंट्रोल तथा इसकी 5 रीजनल ब्रांच और 20 मेट्रोपॉलिटन हेल्थ सरवायलेंस यूनिट की शुरुआत करने पर सरकार की ओर से समर्थन दिया जाएगा। जिसके माध्यम से संस्था द्वारा अपना काम अच्छे से किया जा सकेगा अतः संस्था को प्रोत्साहन दिया जाएगा। जिसके अंतर्गत स्वास्थ्य से संबंधित सभी प्रकार की जानकारी नागरिकों तक पहुचायी जाएगी। इसके साथ ही इस योजना के अंतर्गत सभी सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रयोगशालाओं को भी स्वस्थ सूचना पोर्टल से जोड़ा जाएगा। इस योजना के अंतर्गत एक एकीकृत स्वस्थ सूचना पोर्टल की भी स्थापना की जाएगी। [यह भी पढ़ें- आत्मनिर्भर भारत अभियान 3.0 | ऑनलाइन आवेदन (Atma Nirbhar 3.0) पात्रता व लाभ]

  • इस आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना के माध्यम से 17 नई सार्वजनिक स्वस्थ इकाइयों का निर्माण भी किया जाएगा तथा मौजूदा 33 सार्वजनिक संस्था इकाइयों को भी सशक्त बनाया जाएगा, जिसमें 32 हवाई अड्डे, 11 बंदरगाह और छात्र भूमि क्रॉसिंग शामिल है। यह एकीकृत भी स्वस्थ सूचना पोर्टल के माध्यम से सभी राज्यों में जोड़ा जाएगा।

आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना का उद्देश्य

भारत के हेल्थ सेक्टर का विकास करना इस योजना का मुख्य उद्देश्ये  है। आत्मनिर्भरस्वस्थ भारत योजना 2022  के अंतर्गत स्वास्थ्य के बचाव, इलाज और रिसर्च  इन तीन क्षेत्रों पर ध्यान दिया जाएगा। इन  क्षेत्रों का अच्छा विकास किया जाएगा। क्योकि भारत में अच्छे स्वास्थ्य सुविधाएं भारत के लाभारतयो दी जा सके। Atmanirbhar Swasth Bharat Yojana 2022 के द्वारा बुहत  नए  अस्पताल बनाये जाएंगे। क्योकि भारत का हर एक लाभारती अच्छे  स्वास्थ्य सेवा का लाभ ले सके। इस योजना के द्वारा स्वास्थ्य क्षेत्र में बुहत नए सुधार भी किए जाएंगे। [यह भी पढ़ें- आत्मनिर्भर भारत अभियान 3.0 | ऑनलाइन आवेदन (Atma Nirbhar 3.0) पात्रता व लाभ]

Atmanirbhar Swasth Bharat Yojana 2022 के लाभ तथा विशेषताएं

  • हमारे देश के वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी को इस योजना के आम बजट की घोषणा करते समय लॉन्च किया गया है
  • Atmanirbhar Swasth Bharat Yojana 2022 के अंतगर्त 3 क्षेत्रों पर बुहत ध्यान दिया जाएगा जो कि रिसर्ज ,इलाज और बचाव है।
  • योजना का बजट आगे के  6 वर्ष के लिए ₹64,180 करोड रुपए धनराशि है।
  • इस योजना के द्वारा  मौजूदा हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर को बुहत मजबूत बनाया जाएगा।
  • नेशनल हेल्थ मिशन के अंतर्गत इस योजना की शुरुआत की जाएगी।
  • इस योजना के द्वारा  फंडिंग पूरी तरह से केंद्र सरकार के द्वारा की जाएगी।
Aatmanirbhar Swasthya Bharat Yojana

PM Modi Yojana 2021

  • आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना के अंतगर्त 17000 ग्रामीण तथा 11000 शहरी हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर को शुरू किया जाएगा।
  • इस योजना के द्वारा  सभी जिलों के 3382 ब्लॉक में एकत्रित सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रयोगशालाओं की शुरुआत की जाएगी।
  • इस योजना के अंतगर्त  सार्वजनिक स्वास्थ्य  की भी शुरुआत की जाएंगी।
  • सरकार द्वारा आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना 2022 के अंतर्गत 602 जिलों में हॉस्पिटल ब्लॉक शुरुआत की जाएगी
  • नेशनल सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल को भी इस योजना के अंतर्गत समर्थन प्रदान किया जाएगा।
  • इस योजना के द्वारा  इंटीग्रेटेड हेल्थ इंफॉर्मेशन पोर्टल की भी शुरुआत  की जाएगी और 17 नई सार्वजनिक स्वास्थ्य कार्य इकाइयां भी स्थापित किया जायेगा।
  • इस योजना के अंतगर्त मौजूदा सार्वजनिक स्वास्थ्य कार्यों को भी शुरू किया जाएगा।
  • Atmanirbhar Swasth Bharat Yojana के अंतगर्त  15 स्वास्थ्य आपातकालीन संचालन केंद्र तथा दो मोबाइल अस्पतालों की भी शुरुआत की जाएगी।

Atmanirbhar Swasth Bharat Yojana 2022 पात्रता मानदंड

  • केवल भारत के स्थायी निवासी ही Atmanirbhar Swasth Bharat Yojana का लाभ लेने के लिए पात्र हैं।
  • इस योजना के तहत सरकार नयी आने वाली बीमारियों के इलाज के लिए संस्थानों को मजबूत करेगी और स्वास्थ्य प्रणालियों की क्षमता विकसित का कार्य करेगी।

आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • बैंक खाते की जानकारी
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र

प्रधान मंत्री की अन्य सरकारी योजनाएँ :-

आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना (PMASBY) 2022 आवेदन करने की प्रक्रिया

वह सभी इच्छुक आवेदक जो आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना 2022 में आवेदन करना चाहते हैं उन्हें नीचे दिए गए चरणों को फॉलो करना होगा।

  • सबसे पहले आपको आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल जाएगा।
  • वेबसाइट के होमपेज पर आपको मेन्यू में ASBY 2022 विकल्प में अप्लाई नाउ टैब पर क्लिक कर देना है।
  • इसके बाद आपके सामने एक आवेदन फॉर्म खुल जायेगा, यहां आपको पूछी गई सभी जानकारी जैसे: – आपका नाम, मोबाइल नंबर, निवास स्थान आदि को दर्ज कर देना है।
  • सभी जानकारियों को दर्ज करने के बाद आपको सभी महत्वपूर्ण दस्तावेजों को फॉर्म के साथ उपलोड कर देना है।
  • अब अपने द्वारा दर्ज जानकारी की अच्छे से जाँच करने के बाद आप सबमिट बटन पर क्लिक कर दे।

इस प्रकार आप आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना (PMASBY) के तहत आवेदन की प्रक्रिया को पूरा कर सकते हैं।



thank you

Leave a Reply

Your email address will not be published.