ऑनलाइन आवेदन, पात्रता व लाभ

Author:


छत्तीसगढ़ ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना ऑनलाइन आवेदन | Rajiv Gandhi Gramin Bhumihin Krishi Majdur Nyay Yojana Apply | राजीव गांधी ग्रामीण कृषि मजदूर न्याय योजना रजिस्ट्रेशन फॉर्म

हम सभी नागरिक जानते है की हमारे देश में नागरिको को सहयता प्रदान करने के लिए केंद्र सरकार और राज्य सरकार द्वारा कई अन्य तरह की योजनाए आरम्भ की जाती है, इसी तरह छत्तीसगढ़ सरकार के माध्यम से भूमिहीन परिवारों के लिए एक नई योजना आरम्भ की गई है, जिसका नाम राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना है। इस योजना के तहत, भूमिहीन परिवारों को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के माध्यम से हर साल 6000 रुपये प्रदान किए जाएंगे। Rajiv Gandhi Grameen Bhumihin Majdur Nyay Yojana के तहत राज्य के ऐसे परिवारों को सालाना ₹6000 दिए जाएंगे, जिनके पास कृषि भूमि नहीं है और जो मनरेगा या कृषि मजदूरी से भी जुड़े हैं। सरकार द्वारा छत्तीसगढ़ भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना के तहत धोबी, नाई, लोहार और पुजारी भी लाभ प्राप्त कर सकेंगे। राज्य सरकार द्वारा Rajiv Gandhi Grameen Bhumihin Majdur Nyay Yojana के तहत इस वर्ष भी इस योजना के लिए 200 करोड़ रुपये का बजट प्रावधान किया गया है। [यह भी पढ़ें- (रजिस्ट्रेशन) राजीव गांधी किसान न्याय योजना: CG Nyay Yojana, ऑनलाइन आवेदन]

Table of Contents

Rajiv Gandhi Grameen Bhumihin Majdur Nyay Yojana 2022

हम सभी नागरिक जानते हैं कि राज्य सरकार के द्वारा नागरिको को सहायता व लाभ प्रदान करने के लिराजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना शुरू की गई हैं। इस योजना के तहत भूपेश बघेल सरकार ने ग्रामीण क्षेत्र के भूमिहीन खेतिहर मजदूरों के परिवारों को 6000 उपलब्ध कराने का निर्णय लिया है। राज्य सरकार द्वारा आरम्भ की गई Rajiv Gandhi Grameen Bhumihin Majdur Nyay Yojana के तहत मिलने वाली सहायता राशि सीधे मजदूरों के बैंक खाते में भेजी जाएगी, तो दोस्तों यदि आप Rajiv Gandhi Grameen Bhumihin Majdur Nyay Yojana 2022 के तहत लाभ प्राप्त करना चाहते है तो आपको इस योजना के तहत आवेदन करना होगा और छत्तीसगढ़ भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना में आवेदन करने की पूरी जानकारी हमने अपने इस आर्टिकल में प्रदान की है तो आपसे निवेदन है की आप हमारे इस आर्टिकल को पूरा पढ़े। [यह भी पढ़ें- छत्तीसगढ़ राशन कार्ड लिस्ट 2021- CG Ration Card List | नई सूची डाउनलोड]

राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की योजनाएं

राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना के लाभार्थियों को मिलेंगे 7 हजार रूपये प्रति माह

मुख्यमंत्री ने बजट की इस घोषणा में कहा है कि इस योजना का लाभ मिलने से राज्य के पुजारियों, गुनिया, मांझी और बैगा को काफी राहत मिलेगी क्युकि वह सिर्फ मंदिर में चढ़ाए जाने वाले दान दक्षिणा पर ही निर्भर थे, इसलिए  सरकार ने उनको ध्यान में रखते हुए इस योजना के तहत उन्हें लाभ देने की घोषणा की है, जिससे पूरे छत्तीसगढ़ राज्य के नागरिक खासकर बस्तर के बैगा, गुनिया, पुजारयों, मांझी और पाहार्या, बाजा मोहरिया वर्ग में शामिल सभी लोगों में काफी खुशी की लहर है। मुख्यमंत्री ने राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना के तहत आवेदकों को 6 हजार वार्षिक सहायता राशि देनी तय की थी, लेकिन अब इस राशि में भी बढ़ोतरी करते हुए उन्होंने 7 हजार रु वार्षिक सहायता राशि देने की घोषणा की है। मुख्यमंत्री ने अपने बजट में बताया है कि इस साल 3 लाख 54 हजार 513 भूमिहीन कृषि मजदूरों को 71 करोड़ 8  लाख रुपए की धनराशि पहली किस्त के रूप में भुगतान की जा चुकी है। [यह भी पढ़ें- CG मिसल बंदोबस्त रिकार्ड: Misal Bandobast Records, छत्तीसगढ़ भू अभिलेख नक्शा खसरा]

26 जनवरी को आएगी राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना की पहली क़िस्त

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पिछले साल राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना को शुरू करने की घोषणा की थी।इस योजना के माध्यम से भूमिहीन मजदूरों और मजदूरों, जो पारंपरिक व्यवसायों में हैं सभी को 26 जनवरी को राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना की पहली क़िस्त के रूप में  6000 रुपये प्रति वर्ष के हिसाब से पहली क़िस्त उनके बैंक अकाउंट में पहुचायी जाएगी। आपको बता दे कि 30 नवंबर को योजना हेतु पंजीकरण की अंतिम तिथि थी, अतः 30 नवंबर तक  योजना हेतु 4,41,000 से अधिक भूमिहीन मजदूरों ने योजना के लिए पंजीकरण कराया है। सभी पात्र लाभार्थियों की अंतिम सूची के अनुसार योग्य मजदूरों को सीधे बैंक हस्तांतरण के माध्यम से छह हजार की राशि प्रदान की गयी। [यह भी पढ़ें- cgteeka.cgstate.gov.in | CG Teeka State Covid-19 18+ Vaccination Registration]

  • राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर योजना 2022 में खेतिहर मजदूरों, भूमिहीन मजदूरों और पारंपरिक कार्यों में लगे लोगों को अनुदान प्रदान करने के उद्देश्य के साथ शुरू की गई थी।तथा  सरकार के तहत खरीदे गए धान को 2500 रुपये प्रति क्विंटल प्रदान करने के वादे को पूरा करना भी था।
  • इसके अलावा, कांग्रेस सरकार ने ‘गोधन न्याय योजना’ भी शुरू की थी, जिसके माध्यम से राज्य, पशुपालकों से 2 रुपये प्रति किलो की कीमत पर गाय का गोबर खरीदेगा। यह योजना किसानों और अन्य भूमिहीन लोगों को लाभान्वित करने के उद्देश्य से शुरू की गई है। इस योजना के तहत गोबर का उपयोग जैविक खाद के रूप में वर्मी कम्पोस्ट बनाने के लिए किया जाएगा।

राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना आवेदन प्रारंभ

छत्तीसगढ़ सरकार के द्वारा ग्रामीण क्षेत्र निवासरत भूमिहीन कृषि मजदूर परिवारों के लिए Rajiv Gandhi Grameen Bhumihin Majdur Nyay Yojana का आरम्भ किया गया है। इस योजना के अंतगर्त राज्य सरकार भूमिहीन कृषि मजदूर परिवारों को संबल प्रदान करती है जिसमें कि उन्हें ₹6000 की वार्षिक अनुदान राशि देती है। यह योजना वित्तीय वर्ष 2021 22 से शुरू की जानी है जिसके लिए सभी इच्छुक आवेदक अपना आवेदन जमा करवा सकते हैं। राज्य सरकार ने योजना के तहत आवेदन की प्रक्रिया 1 सितंबर 2021 से लेकर 30 नवंबर 2021 तक के लिए खोल दी है। इसलिए आप ग्राम पंचायत के सचिव के पास जाकर अपना आवेदन जमा करवा सकते हैं। [यह भी पढ़ें- छत्तीसगढ़ राशन कार्ड लिस्ट 2021- CG Ration Card List | नई सूची डाउनलोड]

  • कलेक्टर सुनील कुमार जैन के द्वारा इस योजना के तहत एक जिला स्तरीय बैठक का आयोजन भी किया गया था ताकि विस्तृत प्रशिक्षण एवं मार्गदर्शन दिया सके। इस मार्गदर्शन के अनुसार केवल छत्तीसगढ़ राज्य के मूल निवासी श्रमिक ही इस योजना का लाभ उठा सकेंगे। इस योजना का लाभ उन सभी परिवारों को दिया जाएगा जिनके पास कृषि भूमि नहीं है। वह सभी नागरिक जो पट्टे पर कृषि भूमि प्राप्त करते हैं या वन अधिकार प्रमाण पत्र धारक हैं उन्हें भी इस योजना के तहत पात्र नहीं माना जाएगा।
  • सुनील कुमार जैन जी ने अपनी बैठक में यह भी स्पष्ट किया है कि ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर परिवारों के तहत चरवाहा, लोहार, मोची, नाई, धोबी, बड़ाई, पुरोहित जैसे पौनी पसारी व्यवस्था से जुड़े परिवार भी, इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकेंगे। परंतु इन सभी लोगों को इस योजना का लाभ केवल तभी दिया जाएगा यदि उनके पास कृषि योग्य भूमि नहीं होगी।

Overview of Rajiv Gandhi Grameen Bhumihin Majdur Nyay Yojana

योजना का नाम राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना
आरम्भ की गई छत्तीसगढ़ सरकार
वर्ष 2022
लाभार्थी छत्तीसगढ़ के नागरिक
आवेदन की प्रक्रिया ऑनलाइन
उद्देश्य आर्थिक सहायता प्रदान करना
श्रेणी छत्तीसगढ़ सरकारी योजनाएं
आधिकारिक वेबसाइट https://rggbkmny.cg.nic.in/login.aspx

योजना के अंतर्गत हुए 4 लाख से ज्यादा आवेदन

राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना का शुभारंभ छत्तीसगढ़के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी के द्वारा किया गया है।इस योजना के अंतगर्त छत्तीसगढ़ ग्रामीण राज्यों के किसानों को जिनके पास अपनी कोई ज़मीन नहीं है उन कृषि मजदूरों को सहायता से अवगत करवाया जाता है। इस योजना के अंतर्गत सभी जिलों में ग्राम पंचायत स्तर पर (1 सितंबर 2021 से 30 नवंबर202 तक) सभी इच्छुक नागरिकों के आवेदन प्राप्त किए जाचुके है। अब तक लगभग 441658 ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूरों के आवेदन राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना के अंतर्गत प्राप्त किये जा चुके है। [यह भी पढ़ें- [रजिस्ट्रेशन] राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना: ऑनलाइन आवेदन, पात्रता व लाभ]

  • जिला स्तर पर प्राप्त हुए ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूरों के आवेदनों का पंजीकरण होना शुरू किया जा चुका है।
  • ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूरों द्वारा प्राप्त किये गए आवेदनों की जाँच क्षेत्र के तहसीलदार के माध्यम से की जाएगी।
  • छत्तीसगढ़ राज्य के इच्छुकनागरिक इस योजना के अंतगर्त अपना आवेदन करना चाहते है या इस योजना का लाभ प्राप्त करना चाहते है तो उन नागरिकों को गांव के ग्राम पंचायत में अपने आवेदन जमा करवाने होंगे।
  • नागरिक का इस योजना के अंतगर्त लाभ प्राप्त करने के लिए पात्रता प्राप्त होना अनिवार्य है। राज्सब एवं आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा इस योजना का निष्पादन किया जायेगा। 

राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना का उद्देश्य

Rajiv Gandhi Grameen Bhumihin Majdur Nyay Yojana का मुख्य उद्देश्य  यह है की भूमिहीन कृषि कार्य करने वाले राज्य के लोगो को वित्तीय सहायता दी जाएगी। राज्य सरकार द्वारा Chattisgarh Grameen Bhumihin Majdur Nyay Yojana के तहत मिलने वाली वित्तीय सहायता ₹6000 प्रति वर्ष की होगी। इस योजना के द्वारा लाभार्थियों की आय में वृद्धि होगी और वह सभी आत्मनिर्भर बनेंगे। इसके अलावा रबी सीजन में कृषि कार्य से जुड़े नागरिकों के लिए अपना भरण-पोषण करना भी आसान हो जाएगा। राजीव गांधी ग्रामीण कृषि मजदूर न्याय योजना के तहत आवेदन करने के लिए आपको किसी भी सरकारी कार्यालय में जाने की आवश्यकता नहीं है। आप घर बैठे आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से जानकारी के तहत आवेदन कर सकते हैं। इससे आपका समय और पैसा दोनों बचेगा और सिस्टम में पारदर्शिता आएगी। [यह भी पढ़ें- [पंजीकरण] छत्तीसगढ़ पौनी पसारी योजना 2021: CG Pauni Pasari ऑनलाइन आवेदन]

पात्र लाभार्थियों की सूची परीक्षण के पश्चात तैयार की जाएगी

Rajiv Gandhi Gramin Bhumihin Krishi Majdur Nyay Yojana के अंतगर्त छत्तीसगढ़ राज्य के लाभार्थियों की पहचान हो जाने के बाद हर साल आर्थिक सहायता से अवगत करवाया जायेगा। लाभार्थियों को 6000 रूपए प्रति वर्ष इस धनराशि की सुविधा का लाभ प्रदान किया जायेगा।यह धनराशि लाभार्थी के बैंक खाते में डायरेक्ट ट्रांसवर कर दी जाया करेगी। लाभार्थियों को इस योजना के माध्यम से प्राप्त हुई राशि की सहायता से अपने परिवार में से किसी भी सदस्य के अधीन होने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। छत्तीसगढ़ राज्य में रहने वाले वह नागरिक जिनके पास अपनी कोई जमीन नहीं है, भूमिहीन है,चरवाहा, बड़ाई, लोहार मोची, नाई, धोबी और पुरोहित जैसी पौनी पसारी वर्गों से जुड़े हुए है। इस प्रकार के वर्गों के नागरिकों को इस योजना कीसुविधा से अवगत करवाया जायेगा। [यह भी पढ़ें- छत्तीसगढ़ राशन कार्ड लिस्ट 2022: CG Ration Card List | नई सूची डाउनलोड]

  • इस योजना के चलते शासन द्वारा समय आने पर अन्य प्रकार के वर्गों से जुड़े नागरिकों को भी इस योजना की सुविधा से अवगत करवाया जायेगा।
  • राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना की सुविधा का लाभ प्राप्त करने के लिए नागरिकों को पात्रता प्राप्त होना भी अनिवार्य है। इस योजना के अंतगर्त प्राप्त किये गए आवेदन पत्रों में से केवल पात्रता प्राप्त नागरिकों की ही एक अलग सूची बनाई जाएगी।
  • लाभार्थियों की इस सूची को ग्राम सभा के कार्यालय में दावा आपत्ति के प्राप्त होने तक वहाँ पर रख दिया जाता है। लाभार्थियों की इस सूची को छाँटने के बाद पात्रता प्राप्त लाभार्थियों की फाइनल सूची को प्रदर्शित कर दिया जाता है।

दावे एवं आपत्तियों के निराकरण के बाद बनेगी अंतिम सूची

इस योजना के तहत आने वाले परिवारों में कृषि मजदूर उसकी पत्नी या पति, संतान एवं उन पर आश्रित माता-पिता शामिल होंगे। ऐसे में यदि किसी परिवार के मुखिया के माता पिता के नाम पर कोई कृषि भूमि है एवं उस भूमि का उत्तराधिकार का हक मुखिया के पास है तो ऐसे में भी वह व्यक्ति राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना 2022 का लाभ प्राप्त नहीं कर सकता। इसके अलावा आवासीय प्रयोजन हेतु प्राप्त भूमि को कृषि भूमि में नहीं गिना जाएगा। कोई भी व्यक्ति जो Rajiv Gandhi Grameen Bhumihin Majdur Nyay Yojana 2022 का लाभ प्राप्त करना चाहता है तो उसे सबसे पहले अधिकारिक वेबसाइट पर जाकर अपना आवेदन करना होगा। आवेदन के लिए ग्राम पंचायत में भुइया रिकॉर्ड के आधार पर भी बीवन की प्रतिलिपि चस्पा की जाएगी। इसकी आवश्यकता भूमिधारी परिवार की पहचान स्पष्ट करने के लिए होती है। इसके साथ ही आवेदक को अपने आवेदन पत्र के साथ आधार नंबर बैंक पासबुक की प्रतिलिपि एवं मोबाइल नंबर जमा करवाने की आवश्यकता होती है। [यह भी पढ़ें- छत्तीसगढ़ राशन कार्ड लिस्ट 2021- CG Ration Card List | नई सूची डाउनलोड]

  • आपके द्वारा जमा किए गए आवेदन की प्रविष्टि जनपद पंचायत स्तर पोर्टल में संबंधित विभाग द्वारा की जाती है।
  • इसके बाद इस सूची का सत्यापन तहसीलदार के द्वारा किया जाता है और फिर सूची को दावे एवं आपत्तियों के लिए संबंधित ग्राम पंचायत की ग्राम सभा में भेजा जाता है।
  • अंत में दावे एवं आपत्तियों के निराकरण के बाद एक अंतिम सूची तैयार की जाएगी जिसे की फाइनल लिस्ट कहा जाता है।

Rajiv Gandhi Gramin Bhoomihin Krishi Majdoor Nyay Yojana का कार्यान्वयन

इस योजना के तहत क्रियान्वयन की जिम्मेदारी राज्य स्तर पर आयुक्त, निदेशक, भूमि अभिलेख पर होगी और इस योजना का क्रियान्वयन जिला स्तर पर जिला कलेक्टर द्वारा किया जायेगा। इस योजना के माध्यम से राज्य के भूमिहीन मजदूरों को उनकी आजीविका कमाने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी। आयोग के निदेशक एवं जिला कलेक्टर द्वारा यह सुनिश्चित किया जायेगा कि राज्य का कोई भी व्यक्ति राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना से वंचित न रहे और सभी पात्र परिवारों को इस योजना के तहत लाभ प्रदान किया जायेगा। इस योजना के तहत वित्तीय सहायता सरकार द्वारा प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण के माध्यम से लाभार्थी के बैंक खाते में सीधे हस्तांतरित की जाएगी। [यह भी पढ़ें- (रजिस्ट्रेशन) राजीव गांधी किसान न्याय योजना: CG Nyay Yojana, ऑनलाइन आवेदन]

Rajiv Gandhi Grameen Bhumihin Krashi Majdur Nyay Yojana के लाभ

  • राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य में भूमिहीन श्रमिकों को लाभान्वित करना है।
  • इस योजना में नाई, लोहार, धोबी, पुजारी आदि सहित सभी भूमिहीन श्रमिकों को शामिल किया गया है।
  • इस योजना के तहत रुपये की वित्तीय सहायता 6000 रुपए प्रदान किया जाएगा
  • लाभार्थियों को सीधे उनके बैंक खाते में मिलेगा लाभ।
  • Rajiv Gandhi Grameen Bhumihin Majdur Nyay Yojana उद्देश्य राज्य के सभी भूमिहीन श्रमिकों और उनके परिवारों का कल्याण सुनिश्चित करना है।

Chattisgarh Grameen Bhumihin Majdur Nyay Yojana की विशेषताएं

  • राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा शुरू की गई एक नई योजना है।
  • इस योजना के तहत मजदूर के परिवार की पहचान करके उन्हें अनुदान के रूप में आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।
  • यह योजना वित्तीय वर्ष 2021-22 से लागू होगी।
  • छत्तीसगढ़ भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना के कार्यान्वयन की जिम्मेदारी राज्य स्तर पर आयुक्त संचालक भू अभिलेख एवं जिला स्तर पर जिला कलेक्टर की होगी।
  • जो भी व्यक्ति Rajiv Gandhi Gramin Bhumihin Krishi Majdur Nyay Yojana का लाभ प्राप्त करना चाहता है उन्हें अधिकारिक वेबसाइट पर जाकर अपना पंजीकरण करवाना होगा।
  • यदि किसी स्थिति में लाभार्थी परिवार के मुखिया की मृत्यु हो जाती है तो ऐसे में उक्त परिवार को नवीन आवेदन प्रस्तुत करना होगा।
  • इस योजना के तहत लाभ की राशि दो समान किस्तों में प्रदान की जाएगी।

राजीव गांधी ग्रामीण कृषि मजदूर न्याय योजना 2021 आवश्यक दिशा निर्देश

छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा शुरू की गई Rajiv Gandhi Gramin Bhumihin Krishi Majdur Nyay Yojana 2021 के क्रियान्वयन के लिए कलेक्टर अजीत वसंत जी ने कुछ दिशा निर्देश जारी किए हैं जोकि आपके सुविधा के लिए नीचे दिए गए बिंदुओं में प्रदान किए गए हैं।

  • छत्तीसगढ़ राज्य में ग्रामीण आबादी का एक बड़ा हिस्सा कृषि एवं मजदूरी पर निर्भर है। ऐसे में कृषि मजदूरी के लिए खरीफ सत्र ही पर्याप्त अवसर रहता है।
  • राज्य में रबी फसल के सत्र में क्षेत्राच्छादन कम होने के कारण कृषि मजदूरी के अवसर भी कम हो जाते हैं।
  • यहां कृषि मजदूरी के कार्य करने वाले अधिकतर ग्रामीण लघु, सीमांत अथवा भूमिहीन कृषक हैं।
  • राज्य के भूमिहीन कृषि मजदूरों को ग्राम स्तर पर अन्य की अपेक्षा में रोजगार के कम अवसर उपलब्ध होते हैं।
  • छत्तीसगढ़ राज्य सरकार ने ऐसे सभी भूमिहीन कृषि मजदूरों को संबल प्रदान करने के लिए वित्तीय वर्ष 2021-22 से छत्तीसगढ़ भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना शुरू करने का निर्णय लिया है।
  • योजना के लिए कट ऑफ डेट एवं पात्रता से संबंधित जानकारी 1 अप्रैल 2021 को जारी की गई थी।
  • इस पात्रता के अनुसार केवल छत्तीसगढ़ राज्य के मूल निवासी जोकिंग भूमिहीन कृषि मजदूर परिवार से संबंध रखते हैं इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकते हैं।
  • वह सभी लोग जिनके पास पट्टे पर प्राप्त शासकीय भूमि या यथा वन अधिकार प्रमाण पत्र है तो उसे भी कृषि भूमि में ही माना जाएगा और उन्हें इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा।
  • केवल भूमिहीन कृषि मजदूर ही नहीं बल्कि चरवाहा, बढ़ाई, लोहार, मोची, नाई, धोबी, पुरोहित जैसे पौनी पसारी व्यवस्था से जुड़े परिवार भी इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

छत्तीसगढ़ भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना के लाभार्थी

  • चरवाहा
  • पौनी पसारी व्यवस्था से जुड़े परिवार
  • वनोपज संग्राहक तथा शासन द्वारा समय-समय पर निर्यात अन्य वर्ग
  • लोहार
  • मोची
  • नाई
  • धोबी
  • पुरोहित

Rajiv Gandhi Gramin Bhumihin Krishi Majdur Nyay Yojana के पात्रता मानदंड

जैसा कि हम सब जानते हैं योजना का लाभ केवल पात्र उम्मीदवारों को ही प्रदान किया जाएगा.

  • यदि आप राज्य सरकार द्वारा शुरू की गई राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना के तहत लाभ प्राप्त करना चाहते है तो आपको छत्तीसगढ़ का स्थायी निवासी होना चाहिए।
  • आवेदक के परिवार के किसी भी सदस्य के पास कृषि भूमि नहीं होनी चाहिए।
  • यदि परिवार के मुखिया के पास माता या पिता के नाम कृषि भूमि है और आने वाले समय में वह कृषि भूमि परिवार के मुखिया को दी जाएगी तो ऐसी स्थिति में वह व्यक्ति इस योजना का लाभ लेने का पात्र नहीं होता है। .
  • यदि परिवार के मुखिया के पास आवासीय भूमि है तो वह इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकता है।
  • राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना 2022 का लाभ प्राप्त करने के लिए लाभार्थी को आधिकारिक पोर्टल पर पंजीकरण करना अनिवार्य है।
  • परिवार के मुखिया की मृत्यु की स्थिति में परिवार द्वारा नए सिरे से आवेदन करना अनिवार्य है।
  • इस योजना के तहत आवेदन करने के लिए आवेदक भूमिहीन होना चाहिए।
  • जिस व्यक्ति के पास कोई कृषि भूमि नहीं है और उसे अपनी आजीविका के लिए शारीरिक श्रम करना पड़ता है, वह Rajiv Gandhi Gramin Bhumihin Krishi Majdur Nyay Yojana के लिए पात्र है।   

राजीव गांधी ग्रामीण कृषि मजदूर न्याय योजना 2022 की अपात्रता

  • आउटसोर्सिंग या दैनिक वेतन पर काम करने वाले कर्मचारी।
  • वह व्यक्ति जो संवैधानिक पद को धारण करते हैं या थे।
  • वह व्यक्ति जो केंद्र शासन राज्य शासन के किसी भी मंत्रालय या विभाग या कार्यालय में कर्मचारी या अधिकारी के रूप में सेवा करते हैं या करते थे।
  • सेवा के अंतर्गत संविदा पर काम करने वाले अधिकारी या कर्मचारी।
  • डॉक्टर, इंजीनियर, चार्टर्ड अकाउंटेंट, वकील या कोई अन्य पेशे के नागरिक।
  • वह व्यक्ति जिसने या उसके परिवार के किसी सदस्य ने पिछले वर्ष में आयकर जमा किया है।
  • नगरीय इकाई के वर्तमान या पूर्व अध्यक्ष।
  • जनपद पंचायत का वर्तमान या पूर्व अध्यक्ष।
  • ग्राम पंचायत का वर्तमान या पूर्व अध्यक्ष।
  • स्थानीय निकायों के नियमित कर्मचारी।
  • केंद्र तथा राज्य सरकार के वर्तमान या पूर्व मंत्री।
  • लोकसभा या राज्यसभा के वर्तमान या पूर्व सदस्य।
  • राज्य विधान सभा या परिषद के के वर्तमान या पर। सदस्य।
  • जिला पंचायत का वर्तमान या पूर्व अध्यक्ष।
  • नगरीय छेत्र के परिवार।
  • वह व्यक्ति जिन्होंने किसी पीएसयू और स्वायत्त निकायों में अधिकारी या कर्मचारी के रूप में काम किया हो।

आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • वोटर आईडी कार्ड
  • इनकम प्रूफ
  • भूमिहीन कृषि मजदूर दस्तावेज
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • मोबाइल नंबर

राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना के तहत आवेदन करने की प्रक्रिया

यदि आप राज्य सरकार द्वारा शुरू की गई Rajiv Gandhi Gramin Bhumihin Krishi Majdur Nyay Yojana के तहत आवेदन करना चाहते है तो आपको नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करना होगा: –

  • सबसे पहले आपको राजीव गांधी ग्रामीण कृषि मजदूर न्याय योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल कर आ जाएगा।
राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर
  • वेबसाइट के होम पेज पर आपको अप्लाई नाउ के विकल्प पर क्लिक कर देना है, इसके बाद आपके सामने आवेदन पत्र खुल कर आ जाएगा।
  • अब आपको आवेदन पत्र में पूछी गई सभी जानकारी जैसे कि आपका नाम, मोबाइल नंबर, ई-मेल आईडी आदि को दर्ज कर देना है।
  • इसके बाद आपको सभी दस्तावेजों को अपलोड कर देना है, और आपको सबमिट के विकल्प पर क्लिक कर देना है।
  • आपके द्वारा सबमिट के बटन पर क्लिक करने के बाद, आपकी Rajiv Gandhi Grameen Bhumihin Majdur Nyay Yojana के तहत आवेदन करने की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

Rajiv Gandhi Gramin Bhoomihin Krishi Majdoor Nyay Yojana के तहत ऑफलाइन आवेदन की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको यहां दिए गए राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना के फॉर्म को डाउनलोड कर लेना है।
  • अब आपको इस आवेदन फॉर्म को प्रिंट कर लेना है
  • इसके बाद आपको इस एप्लीकेशन फॉर्म में सभी पूछी गयी जानकारी जैसे: – हितग्राही परिवार के मुखिया का नाम, पिता/पति का नाम, जाति, संवर्ग, मोबाइल नंबर, पता, पटवारी, हल्का नंबर और परिवार के सदस्यों का विवरण दर्ज करना होगा।
  • सभी जानकारियों को दर्ज करने के बाद आपको सभी महत्वूर्ण दस्तावेजों को फॉर्म के साथ अटैच करना है।
  • इसके बाद आपको इस फॉर्म को सम्बंधित विभाग में जाकर जमा करा देना है।

बताते चले की Rajiv Gandhi Gramin Bhumihin Krishi Majdur Nyay Yojana की पंजीकरण प्रक्रिया 1 सितंबर 2021 से 30 नवंबर 2021 तक चलेगी। इस योजना का लाभ लेने के लिए आवेदन पत्र की प्रति ग्राम पंचायत सचिव और हमारी वेबसाइट से डाउनलोड की जा सकती है। आपके पास पंजीकरण के लिए आधार कार्ड होना अनिवार्य हो, आधार कार्ड न होने पर आप पहले आधार कार्ड के लिए स्वयं को पंजीकृत कराये।

मुख्य कार्यपाल अधिकारी, जनपद पंचायत द्वारा इस योजना में पंजीकरण की प्रकिया को पूरा किया जायेगा। आवेदन के समय बैंक विवरण में किसी प्रकार की गलती होने पर 15 दिन के अंदर लाभार्थी परिवार से सही जानकारी प्राप्त की जाएगी।

उपयोगकर्ता लॉगिन करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको राजीव गांधी ग्रामीण कृषि मजदूर न्याय योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल कर आ जाएगा।
  • वेबसाइट के होम पेज पर आपको कार्यालयीन उपयोगकर्ता के विकल्प पर क्लिक कर देना है, इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आ जाएगा।
उपयोगकर्ता लॉगिन
  • अब आपको इस पेज पर उपयोगकर्ता-लॉगिन का पेज दिखाई देगा, इसके बाद आपको इस पेज में पूछी गई सभी जानकारी को दर्ज कर देना है।
  • इसके बाद आपको लॉगिन के विकल्प पर क्लिक कर देना है, और आपकी प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

पंजीयन विवरण चेक करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको राजीव गांधी ग्रामीण कृषि मजदूर न्याय योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल कर आ जाएगा।
  • वेबसाइट के होम पेज पर आपको पंजीयन विवरण के विकल्प पर क्लिक कर देना है, इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आ जाएगा।
पंजीयन विवरण चेक
  • इस पेज पर आपको अपनी आवश्यकता के अनुसार किसी एक विकल्प पर क्लिक कर देना है और पंजीयन विवरण आपके सामने खुल जाएगा।

Important Download





thank you

Leave a Reply

Your email address will not be published.